रेवाड़ी में आरटीए दफ्तर के बाहर बैठे दलाल कमा रहे मोटी रकम, ओवरलोड वाहन ले रहे लोगों की जान

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Ajay Atri, Yuva Haryana
Rewari, 30 July, 2018
अब इसे सरकार की नाकामी कहें या फिर कुछ और। आए दिन हादसे हो रहे हैं, सड़के खून से लाल हो रही हैं। आरटीए में दलालों का भारी बोलबाला है। दफ्तर के सामने बैठकर दिनभर सौदेबाजी हो रही है, वाहनों की पासिंग व ओवरलोड के नाम पर मोटा खेल चल रहा है। मगर सिक्को की खनक के आगे कोई भी कैमरे पर बोलने को तैयार नहीं हैं। ऊपर से मंत्री जी कह रहे हैं कि इसमें अकेले सरकार का कोई दोष नहीं है।
जी हां, यह हम नहीं कह रहे। तस्वीरों में हाथ में फाइल उठाकर नोट गिनते हुए जो यह नजारा आप देख रहे हैं, यह रेवाड़ी आरटीए दफ्तर के सामने का है, जहां वाहनों की पासिंग व ओवरलोड के नाम पर दिनभर यह खेल खुलेआम चलता है, लेकिन अधिकारियो की कथित मिलीभगत के चलते यहां इन्हे रोकने टोकने वाला शायद कोई नहीं है।

लोगों की माने तो रेवाड़ी में ओवरलोड वाहनों को कहर दिनोदिन बढ़ता ही जा रहा है, जिसके कारण शाम ढलते ही शहर की सड़कें इन यमदूतो के साए फंस जाती हैं। वहींसड़को पर हादसे होना आम बात हो चली है। हालात इस कदर बेकाबू हैं कि रोड क्रास तक नहीं कर पाते। इतना ही नहीं अनेक वाहनों पर तो नंबर तक नहीं होते। उनका आरोप है कि यह सारा खेल अधिकारी से मंत्रियों तक मिलीभगत के चलते खेला जा रहा है। ओवरलोड होने के कारण वाहनों के ब्रेक तक नहीं लग पाते और ट्रैफिक पुलिस है कि इन यमदूतों को देख आँखों पर पट्टी बांधकर मुंह मोड़ लेती है।

इसे लेकर पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव का कहना है कि पहले सरकार ने चौराहों पर बूथ बनाकर वहां टीमें बैठाई थी, लेकिन बड़ा सवाल यह है कि अब उन्हें क्यों हटा लिया गया। उन्होंने कहा कि चुनाव नजदीक आते देख अब मैच फिक्स हो चुका है। सरकार जवाब दे कि आखिर गड़बड़ कहाँ है।
वहीं अब अगर आप इस पर मंत्री जी का बयान सुनेंगे तो हैरान रह जाएंगे। उनका कहना है कि इसमें अकेले सरकार का कोई दोष नहीं है। लोगो को भी अपनी मानसिकता बदलनी होगी। जन सहयोग के बिना भ्र्ष्टाचार दूर नहीं हो सकता।  वैसे भी अब स्थिति काफी कंट्रोल में है और सरकार कोशिश कर रही है कि इस पर पूरी तरह अंकुश लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *