कोर्ट का बड़ा फैसला, हत्या के आरोप में 23 लोगों को उम्रकैद

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Vinod Saini, Yuva Haryana

Hisar, 14 August, 2018

हिसार के अर्बन एस्टेट में 30 सितंबर 2012 को गैंगवार में हुई हत्या के मामले में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत 23 लोगो को सजा सुनाई है।
सजा पानों में सुरेद्र गुर्जर, राजेंद्र, दीपक, महेंद्र, शमशेर, नृपेंद्र, कपिल, शीलू, जितेंद्र, लवकुश, मुकेश, राम अवतार, नीतेश, बलजीत, ,साहिल, कर्ण, चाप सिहं,मोनू, जसवंत, बंटी, शिबु, राकेस चैतल शामिल 23 लोग शामिल है।
अदालत के फैसले के अनुसार अदालत परिसर में सुरक्षा के कडे इंतजाम किए गए थे और पुलिस की अदालत के चारो और कडी सुरक्षा के बदौबस्त किये गए। 23  दोषियों को अदालत ने ताउम्र कैद की सजा सुनाई गई है।
अदालत में चले अभियोग के अनुसार समुद्र ने पुलिस को दी शिकता में कहा कि घटना के दिन नृपेंद्र, मोगली, और कर्ण बाइक पर उनके घर बाहर आए थे। तीनों ने गाली गलौच कर जान से मारने की धमकी दी। उसके बाद मैं अपने भाई विक्रम और मां रिसाली देवी के साथ सुरेद्र गुर्जर के खर उलाहना देने गया था और बाद हम वापस घर आ गए। घर में मेरा दोस्त चानौत गांव का संदीप भी मौजूद था।
एक घंटे के बाद सुरेद्र गुर्जर, दीपक, नृपेंद्र, मोगली, कर्ण, जितेंद्र, शीलू, शिबु, कालिया गुर्जर समेत 35-35 लोग हाथों में असला लहराते हुए घर के बाहर आए। आरोप था कि हमलावरों ने घर पर पत्थर फैसने शुरु कर दिए और गोलिया बरसानी शुरु कर दी। शोर शराबा अ ौगोलिया की आवाज सुनकर मै विक्रम संदीप और मेरी मां के साथ घर की छत पर चला गया।
इस दौरान सुरेदं्र ने 315 बोर की राइफल से फायरिंग कर दी और एक गोली संदीप के सिने में लगी। संदीप को उपचार के लिए अस्पताल में लाया गया जहां पर उसने दम तोड दिया था। मरने वाला संदीप बिसला गुट का साथी था। हिसार सिविल लाइन पुलिस ने समुंद्र बिसला की शिकायत पर 30 सितंबर 2012 को लगभग 40 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। इस मामले में अदालत ने 23 दोषी करार युवकों को सजा सुनाई है।
संजय सिंह एडवोकेट ने बताया कि दोषियों को अदालत ने ताउम्र कैद की सजा सुनाई गई है। उनको अभी केवल एक को सेंट्रल जेल दो में भेजा गया है, जबकि अन्य को सेंट्रल जेल एक में भेजा गया है। उन्होंने बताया कि यह उम्र आजीवन है या फिर 20 साल की अभी इसके बारे में पूरा फैसला आने के बाद भी बताया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *