Home चर्चा में गुरुग्राम में क्रिकेट का महाकुंभ सम्पन्न, 38 निजी स्कूलों के खिलाड़ियों ने दिखाया दम-खम

गुरुग्राम में क्रिकेट का महाकुंभ सम्पन्न, 38 निजी स्कूलों के खिलाड़ियों ने दिखाया दम-खम

0
0Shares

Manu Mehta, Yuva Haryana
Gurugram, 02 Dec, 2018

गुरुग्राम के माडूमल स्कूल में माडूमल क्रिकेट एकेडमी द्वारा इंटर स्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन कराया गया जिसकी तीन कैटेगरी के टूर्नामेंट में गुरुग्राम के 38 निजी स्कूलों के छात्र-छात्राओं ने भाग लिया | 13 दिन तक चली इस प्रतियोगिता के समापन में पूर्व भाजपा सांसद ने मुख्य अतिथि के तौर से शिरकत की व् विजयी टीमों को ट्रोफी प्रदान कर गौरवान्वित किया | इस आयोजन में स्कूल प्रबंधन के साथ साथ बच्चों ने भी बढ़-चढकर भाग लिया |

गुरुग्राम के सैक्टर-4 स्थित माडूमल पब्लिक स्कूल में इंटर-स्कूल टूर्नामेंट का आयोजन किया गया जिसमे गुरुग्राम के 38 निजी स्कूलों की टीमों ने भाग लिया | अंडर-19 ब्वायज , अंडर-19 गर्ल्स व् अंडर-14 ब्वायज , इन तीन कैटेगरी के लिए 20 नवम्बर से क्रिकेट टूर्नामेंट की शुरुआत हुई थी जिसका समापन 02 दिसम्बर को हुआ | तीनो ही कैटेगरी में माडूमल स्कूल की टीमों ने प्रथम स्थान पाकर विजय हासिल की | इस मौके पर माडूमल स्कूल ग्रुप के डारेक्टर का कहना है कि वो छात्रों के साथ साथ छात्राओं को भी खेलो में बराबर प्रोत्साहन देते रहते है और उनका प्रयास है कि अब राज्य स्तर व् राष्ट्रीय स्तर की स्कूल प्रतियोगिताए भी कराई जाए ताकि देश को ज्यादा से ज्यादा प्रतिभाए मिल सके |

गुरुग्राम के माडूमल स्कूल के ग्राउंड में क्रिकेट टूर्नामेंट में भाग ले रही ये टीमे पिछले 13 दिनों से लगातार प्रयासरत है कि उनकी टीम विजयी होकर निकले लेकिन आखरी दिन मुकाबला इस कदर कडा रहा कि जीत के लिए दोनों टीमे अपने अपने खिलाडियों का मनोबल बढाने में जुटी है और इसमें सफलता मिली माडूमल स्कूल की टीम को , क्योंकि उनकी टीम की बेहतर फिल्डींग व् बालर की मेहनत के आगे DAV स्कूल की टीम को रनर-अप रहकर की संतोष करना पडा | जीतने वाली टीम के कप्तान की माने तो रनर-अप रही DAV स्कूल की टीम भी स्ट्रोंग थी लेकिन उनकी रणनीति ने उन्हें विजय दिलाई |

वन्ही इस आयोज में मुख्य अतिथि के तौर से पहुची पूर्व भाजपा सांसद ने भी सभी खिलाडियों को ना केवल प्रोत्साहित किया बल्कि उन्हें शुभकामनाए भी दी कि आने वाले समय में वो राष्ट्रीय स्तर तक पहुचे | सुधा यादव ने हरियाणा सरकार की खेल नीतियों को भी प्रोत्साहन देते हुए कहा कि पूर्व सरकार व् मौजूदा सरकार की बेहतर खेल नीतियों के चलते हरियाणा खेलो की नर्सरी बना |


स्कूल स्तर की इन प्रतियोगिताओं से ही बच्चो का कौशल विकास उभरकर सामने आता है और यही बच्चे भविष्य में देश के लिए खेलकर गौरव व् मान समान बढाते है ऐसे में यह कहना गलत नही होगा कि आज जरूरत है कि स्कूल स्तर पर ही बच्चो को इसकी ज्यादा से ज्यादा ट्रेनिंग दी जाए |

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In चर्चा में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Yuva Haryana Top News में पढ़िए प्रदेश की हर छोटी बड़ी खबरें फटाफट

Yuva Haryana Top News, 07 August 2020 1. हरियाणा…