UHBVN के बिलिंग सिस्टम पर साइबर अटैक, डाटा रिकवर के बदले मांगे बिटकॉइन में 1 करोड़ रुपए

Breaking अनहोनी देश सरकार-प्रशासन हरियाणा

Umang Sheoran, Yuva Haryana

Panchkula (28 March 2018)

उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम (यूएचबीवीएन) के सेक्टर-6, पंचकूला हेड ऑफिस साइबर अटैक की चपेट में आ गया है। 21 मार्च की रात 12:17 बजे साइबर अटैक के जरिये हेड ऑफिस में आईटी विंग के कंप्यूटर्स के पूरे सिस्टम को जाम कर दिया गया। इसके बाद बिलिंग से जुड़ा सारा डाटा हैक कर लिया। फिलहाल यूएचबीवीएन का यह डाटा करप्ट हो गया है। वहीं इस डाटा को रिकवर करने के लिए हरियाणा सरकार से बिटकॉइन में 1 करोड़ रुपए की डिमांड की गई है।

किसी भी साइबर अटैक के बाद बिटकॉइन का रिकवरी के लिए 1 करोड़ मांगना देश का पहला मामला है। बता दें कि 21 मार्च की रात 12:17 बजे ऑनलाइन सिस्टम पर अटैक किया गया था। जिसमें एचटी एएमआर बिलिंग सिस्टम को सबसे पहले टारगेट किया गया। इस दौरान सिस्टम पर ही शो हुआ कि अगर इस पूरे डाटा को रिकवर करवाना है तो उसके एवज में बिटकॉइन देने होंगे। 22 मार्च की सुबह तक कम्प्यूटर स्क्रीन पर यही शो होता रहा और बिलिंग डाटा रिकवर नहीं हो पाया।
इसके बाद आईटी विंग से एसई प्रोजेक्ट आरएस शर्मा की ओर से पुलिस को शिकायत दी गई। पिछले कुछ महीनों से पूरे हरियाणा में बिजली के बिलों में बड़े पैमाने पर खामियां सामने आ रही हैं। आम लोगों के बिलों को बढ़ा-चढ़ाकर भेजा जा रहा है। ऐसे मौके पर पूरे डाटा का करप्ट होना बेहद संवेदनशील मामला है।

यह डाटा अहम है, क्योंकि 9 सर्किलों के बिजली बिलों का डाटा इसी से बनता है। जिनमें 9 सर्किलों पंचकूला, अंबाला, कुरूक्षेत्र, करनाल, यमुनानगर, पानीपत, कैथल, सोनीपत, रोहतक आते हैं। इनका बिलिंग सिस्टम यहीं से मॉनिटर होता है।

इंडस्ट्रियल एरिया के बिलों का डाटा इसमें है।

इंडस्ट्रियल यूनिट्स ने जो बिल चुकाए और जितना बकाया है, उसका ब्योरा भी इसी में है।

कमर्शियल एरिया और कंपिनयों के बिलों का रिकॉर्ड
हरियाणा की बड़ी इंडस्ट्रियल यूनिट्स को दी जाने वाली रिलीफ, टैरिफ आदि इसी डाटा पर आधारित है।
इसी डाटा के आधार पर अगली पॉलिसी बनती है। करोड़ों के बिल न देने वाली कंपिनयों पर कार्रवाई की जाती है।

 UHBVN की शिकायत पर आईपीसी की धारा-384, धारा-120, आईटी एक्ट-66 के तहत केस दर्ज किया गया है। साइबर सेल की टीम उस सर्वर और कम्प्यूटर्स का आईपी एड्रेस ट्रेस करने में लगी है, जहां से साइबर अटैक हुआ है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *