गरीब बच्चों को बांटी जानी थी ये साईकिलें, अब हो गई है पड़ी-पड़ी कबाड़

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Devender Kumar, Yuva Haryana
Kosli, 20 Nov, 2019
प्रदेश को शिक्षा का हब बताने वाली मनोहर सरकार के राज में नौनिहालों की सैकड़ों उड़न परियां धूल फांक रहीं है। दो दिन पूर्व ही कोसली विधानसभा के गांव नाहड़ में बने राजकीय सीनियर सेकेंडरी विद्यालय में ग़रीब बच्चों को दी जाने वाली 551 साईकिलें कबाड़ की हालत में मिली थी। लेकिन ख़बर दिखाई जाने के दूसरे ही दिन खण्ड जाटूसाना के गांव परखोतमपुर के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में भी 105 साईकिलें ऐसे ही हालातों में मिली है कि अब यह साईकिलें किसी काम की नही है। धूल फांकती यह साईकिलें अब पूरी तरह से कबाड़ में बदल गई है। ग़रीब परिवारों के नौनिहालों को दी जाने वाली105 साइकिलों पर अधिकारी अपनी सफ़ाई पेश कर पाक-साफ़ बनने की कोशिश में जुटे है।
हरियाणा की एक अकेली विधानसभा कोसली में इतनी संख्या में ग़रीबों के हकों से खिलवाड़ किया जा रहा है तो फ़िर बाकी की 89 विधानसभाओं का क्या हाल होगा यह चिंता का विषय है। सरकार को इसपर ध्यान देना होगा वरना अधिकारियों की लापरवाही के चलते ग़रीबों तक सरकार की इस योजना का लाभ नही पहुंच पाएगा।
इसलिए ग़रीबों के सपनों को जंग लगाने वाली इस अफ़सरशाही पर सरकार को जल्द ही संज्ञान लेना होगा। कब देखना होगा कि सूबे की मनोहर सरकार की कुंभकर्णी नींद कब तक टूटेगी या फ़िर ग़रीबों के हकों पर अफ़सरशाही हावी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *