दक्षिण हरियाणा तक पानी पहुंचाने का करना है काम – मुख्यमंत्री मनोहर लाल

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana

Chandigarh, 22 July, 2018

 हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि आज विपक्ष एसवाईएल, स्वामीनाथन और जातिगत के नाम पर समाज में दुराब पैदा करने के लिए आपको बरगलाएगा, लेकिन आप लोगों को सजग रहना और एक चौंकीदार के रूप में भागीदार की भूमिका अदा करनी है। आप सभी जानते है कि किस प्रकार से विपक्ष ने रोहतक में घिनौना कार्य करवाया है।

मुख्यमंत्री आज शाहबाद मारकंडा में सूरजमुखी, धान किसान धन्यवाद रैली में प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए हुए किसानों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि पहले नौकरियां पर्ची सिस्टम से दी जाती थी, लेकिन हमनें यह सिस्टम खत्म किया और आज तक 26 हजार नियुक्तियां हो चुकी है और किसी ने भी यदि इन नियुक्तियों के दौरान कोई पैसा लिया हो तो वे उन्हें बताएं, उस पर कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा कि देश की प्रगति और विकास के लिए जीडीपी बढ़ानी होगी और वर्तमान में हरियाणा की जीडीपी 8.2 है, जबकि राष्टï्रीय जीडीपी 7.8 है। उन्होंने कहा कि राष्टï्र की प्रगति के लिए हरियाणा की जीडीपी हम 10 तक लेकर जाएंगे।

        उन्होंने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि इस क्षेत्र में किसानों की सूरजमुखी फसल को लगातार खरीदा जाएगा और शाहबाद की मंडी में किसानों का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि सूरजमुखी की फसल किसी कारणवश कोई नहीं खरीदता है तो सूरजमुखी से बनने वाले घी और तेल को बनाने वाले कारखानों को लगाने का भी प्रावधान करेंगे। उन्होंने कहा कि बाजरा, मक्का,धान,दाले इत्यादि फसलें खरीदी जाएंगी।

        मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें दक्षिण  हरियाणा में पानी पहुंचाना है क्योंकि दक्षिण हरियाणा में पानी की कमी है। इसलिए हमेंं चाहिए कि हम जीरी को ना बो कर कोई अन्य फसल को बोएं जिसमें पानी की लागत कम होती है। उन्होंने किसानों से रूबरू होते हुए कहा कि केन्द्र सरकार ने न्यून्तम समर्थन मूल्य इस अनुसार फसलों का बढ़ाया है कि यदि आप कोई भी फसल पैदा करते है तो उसकी लागत में ज्यादा अंतर नहीं आएगा अर्थात लगभग एक सामान और लाभ बराबर मिलेगा। इसलिए हमें पानी कम लेने वाली फसलों को उगाना चाहिए जिससे पानी की बचत होगी।

        उन्होंने कहा कि आज कल सब्जी उगाने वाले किसान लाभ ज्यादा कमाते है और अब तो सब्जी उगाने में जो लागत ना मिलने का खतरा था वह भी समाप्त हो चुका है। राज्य सरकार द्वारा एक बहुमुखी भावांतर भरपाई योजना लाई गई है। जिसमें लाभ तो किसान का होगा और घाटा सरकार का होगा। इस प्रकार की योजना पहली बार आई है। उन्होंने कहा कि हमनें प्रधानमंत्री को कहा है कि यह योजना अन्य राज्यों में भी लागू हो, लेकिन पहले इसके सफल परिणाम प्राप्त हो जाए। उन्होंने उमीद जताते हुए कहा कि इस योजना की हर प्रदेश नकल करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *