क्रेशर जोन में पेड़ पर टंगा मिला मजदूर का शव, नहीं हो पा रही पहचान

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Rampal Fouji, Yuva Haryana

Nangal Choudhary, 8 july, 2018

नांगल चौधरी के धोलेड़ा क्रेशर जोन में उस समय खलबली मच गई जब एक मजदूर का शव पेड़ से लटकते हुए देखा गया। आपको बता दें इस क्रेशर जोन में सैकड़ों क्रेशर स्थापित हैं और उन पर कार्य करने वाले हजारों की तादात में प्रवासी हैं, उन प्रवासी भारतीयों की आड़ में ही कुछ बांग्लादेशी भी यहां शरण लिए हुए हैं।

लक्षणों से मृतक मजदूर भी बंग्लादेशी लग रहा है और पुलिस को उसकी एक भी ID नही मिली है, जिससे यह पता लग सके कि वो भारतीय हो। मृतक जिस क्रेशर पर काम करता था, न ही उसके पास कोई मृतक का ब्यौरा है, न ही कोई रजिस्ट्रेशन है और बिना पहचान किए हुए ही उसे काम पर रखा हुआ था।

वहीं क्रेशर पर काम कर रहे कुछ मजदूरों से बात की गई, तो मृतक का सिर्फ नाम मालूम हो पाया है। अब पुलिस इस जिहाद में लगी हुई है कि पोस्टमार्टम के पहले बाप का नाम भी जरूरी है और बाद में शव दे तो किसको दें, इसके लिए बाकायदा नकली पत्नी भी बना दी।

जहां तक क्रेशर मालिकों की बात करें इतनी बड़ी लापरवाही इससे पहले कभी नहीं देखी एक तरफ सरकार बांग्लादेशियों के आने पर रोक लगा रही है, वहीं ये क्रेशर मालिक नियमों को ताक पर रखकर सरेआम बांग्लादेशियों को शरण दे रहे हैं।

अब लोगों की मांग यह है क्रेशर मालिकों पर भी बांग्लादेशियों को शरण देने की आरोप में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जाए।

समाजसेवी हेमंत शर्मा ने बताया अगर इन क्रेशर मालिकों के खिलाफ देशद्रोह की कार्रवाई नहीं हुई, तो वह जल्द ही सड़क जाम वह आंदोलन शुरू करेंगे। जिसकी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की और सरकार की होगी।

अब लोगो मे चर्चा बनी हुई है के ये सुसाइड है मौत, पुलिस ने मौके पर पहुंच शव को कब्जे में ले लिया है और शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज कार्रवाई शुरू कर दी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *