मुनि तरुण सागर का निधन, कड़वे प्रवचन के लिए थे मशहूर

Breaking अनहोनी चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

पिछले कुछ दिनों से पीलिया से बीमार चल रहे जैन मुनि तरुण सागर का 51 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। देशभर से श्रद्धालु उनके प्रवास स्थल पर जुटने लगे हैंपिछले दो दिनों से बीमार चल रहे तरुण सागर को डॉक्टरों ने अपनी निगरानी में रखा था। बतादें, कि उनके श्रद्धालुओं की संख्या देश-विदेश में काफी ज्यादा है।

साथ ही उन्हें जिस कमरे में रखा गया था, वहां पर सिर्फ जैन मुनियों और शिष्यों के अलावा किसी और को जाने की अनुमति नहीं दी जा रही थी।
तरुण सागर जी महाराज इस समय दिल्ली में चातुर्मास स्थल पर थे। दो दिन पहले गुरुवार की सुबह उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। जिसके बाद उन्हें स्वास्थ्य जांच के लिए अस्पताल ले जाया गया था।

उस शाम भी कई संत उनसे मुलाकात को पहुंचे थे। जानकारी के मुताबिक दवाइयों के बावजूद उनकी हालत में सुधार नहीं हो रहा था। इसके बाद ही उन्होंने इलाज बंद करा दिया था।

साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी जैन मुनि के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि जैन मुनि तरुण सागर के निधन का समाचार सुन गहरा दुख पहुंचा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *