Home Breaking मिनट-टू-मिनट प्रोग्राम में मुझे सरकार ने बताया, बोलने का नहीं मिलेगा मौका- दीपेंद्र हुड्डा

मिनट-टू-मिनट प्रोग्राम में मुझे सरकार ने बताया, बोलने का नहीं मिलेगा मौका- दीपेंद्र हुड्डा

0
0Shares

Pardeep Dhankar, Yuva Haryana
Bahadurgarh, 24 June, 2018

सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि प्रजातंत्र के शिष्टाचार के अनुसार जो स्थानीय जनप्रतिनिधि हों, सांसद हों उनको क्षेत्र की बात रखने का मौका मिलता है। अगर मेरे को मौका मिलता तो मैं केवल तीन बातें रखता –
1. मैं धन्यवाद करता,
2. स्वागत करता प्रधानमंत्री जी का, केन्द्रीय मंत्री जी का, और
3. मैं बहादुरगढ़ मेट्रो के बारे में कुछ बताता कि कब ये मंजूर हुई, कब पैसा मंजूर हुआ, कब टेंडर हुआ, कब काम हुआ।

 

शायद ये सच नहीं सुनना चाहते थे। और ये मांग मैं आज रखना चाहता था। मगर हरियाणा सरकार ने मौका नहीं दिया, न जाने क्यों नहीं दिया। मगर मैं प्रेस के माध्यम से अपनी बात, क्षेत्र की मांग फिर भी रखना चाहूंगा। मैं क्षेत्र की मांग रखता कि आज मेरे सपने का एक भाग पूरा हुआ है मगर पूर्ण सपना तब पूरा होगा जब मेट्रो का विस्तार होगा और

• मेट्रो बहादुरगढ़-रोहतक तक पहुंचेगी,
• बल्लभगढ़-पलवल तक पहुंचेगी,
• उत्तर दिशा में सोनीपत तक पहुंचेगी,
• दक्षिण दिशा में गुड़गांव-रेवाड़ी तक पहुंचेगी और बाढ़सा झज्जर तक मेट्रो पहुंचेगी

दीपेन्द्र ने कहा कि भाजपा सरकार के पास एक साल का समय बचा है वो या तो इस काम को पूरा करे, नहीं तो जैसे हमने चार शहरों को मेट्रो से जोड़ने का काम किया था, उसी प्रकार मेट्रो के विस्तार का काम भी हम ही पूरा करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि प्रजातंत्र का शिष्टाचार ये कहता था कि एक जनप्रतिनिधि के रूप में मुझे भी वहां क्षेत्र की कुछ मांगें, केन्द्रीय मंत्री जी मौजूद थे उनके सामने और प्रधानमंत्री के सामने, रखने का मौका मिलता। मेरे पास आज सुबह मिनट-टू-मिनट प्रोग्राम आया, जिसमें सरकार की तरफ से बताया गया कि मेरे को इसमें बोलने का मौका नहीं मिलेगा। मैं फिर भी, क्योंकि मेरे को निमंत्रण मिला हुआ था, प्रजातंत्र के शिष्टाचार और गरिमाओं को निभाते हुए मैं पहुंचा, प्रधानमंत्री जी के पद की गरिमा का सम्मान करते हुए, जब तक प्रधानमंत्री जी का वक्तव्य पूरा नहीं हुआ मैं इस कार्यक्रम में मौजूद रहा। मगर न जाने क्यूं आज हरियाणा सरकार ने प्रजातंत्र का वो शिष्टाचार तोड़ दिया

 

सासंद ने इस परियोजना के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि 7 अगस्त, 2012 को यूपीए के केन्द्रीय मंत्रिमंडल से मैंने बहादुरगढ़ के मेट्रो को मंजूरी दिलाई थी, जब हुड्डा साहब ने कहा था कि मुंडका से आगे मेट्रो के लिये दिल्ली का भी खर्चा हरियाणा देगी। 2 फरवरी, 2013 को हुड्डा साहब ने – उस समय कमलनाथ जी केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री थे – मेट्रो का शिलान्यास कराकर अप्रैल 2103 में जोरशोर से इस पर काम शुरु करा दिया था और प्रोजेक्ट लाइन ये थी कि फरवरी 2016 में मेट्रो पूरी हो जायेगी। भाजपा सरकार के आने के बाद इसमें 2 साल का विलंब हुआ। जबकि, हमारे समय फरीदाबाद और गुड़गांव की मेट्रो समय से पहले पूरी कर ली गयी थी। मगर इनके समय मेट्रो 2 साल से ज्यादाए सवा दो – ढाई साल का विलंब हुआ। बहरहाल, देरी हुई, मगर आज मेट्रो पहुंची है बहादुरगढ़ में आगमन हुआ है।

उन्होंने एक बार फिर सभी बहादुरगढ़-वासियों को आज मेट्रो के आगमन पर बहुत-बहुत बधाई दी और कहा कि एक सपना मैं देख के चला था 2009 के चुनाव में, एक वायदा किया था क्षेत्र की जनता के साथ उसका एक भाग आज पूरा हुआ है। मैं सबको शुभकामनाएं देता हूं और तमाम सरकारों का मैं धन्यवाद भी करता हूं। मैं हुड्डा सरकार का धन्यवाद करता हूं जिनके कार्यकाल में मेट्रो के लिये पूरा पैसा मंजूर किया गया, यूपीए सरकार का धन्यवाद करता हूं, उस समय केन्द्र की वो सरकार थी, आज की सरकार का भी धन्यवाद करता हूं कम से कम प्रोजेक्ट रुका नहीं और अंततः देर से, मगर प्रोजेक्ट पूरा हुआ।

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 327 पॉजिटिव केस, देखिए मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, Chandigarh ये भी पढ़िय…