गुरुग्राम से होकर गुजरेगा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रैस वे, लॉजिस्टिक पार्क और स्मार्ट सिटी बनाने का भी विचार

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रैस हाइवे गुरूग्राम जिला के सोहना के साथ से शुरू होगा और इसके बनने से हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के पिछड़े क्षेत्रों का विकास होगा। उन्होंने कहा कि यह हाईवे इन क्षेत्रों के लिए एक ग्रोथ इंजन का काम करेगा और इसके पूरा होने पर दिल्ली से मुंबई जाने में 12 घंटे के समय की बचत होगी। उन्हांेने कहा कि इस हाईवे को मोदी सरकार के वर्तमान कार्यकाल में पूरा कर लिया जाएगा और इसके साथ में लाॅजिस्टिक पार्क तथा स्मार्ट सिटी आदि विकसित किए जाएंगे।

गडकरी आज गुरूग्राम जिला के मानेसर स्थित हैरिटेज विलेज में मीडिया प्रतिनिधियों से मुखातिब हो रहे थे। उन्होंने यहां पर अपने मंत्रालय तथा एनएचएआई के अधिकारियों के साथ दो दिन तक देश में सड़क तथा राजमार्ग परियोजनाओं के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। उनके साथ सड़क , परिवहन तथा राजमार्ग राज्यमंत्री जनरल वी के सिंह भी थे।


मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए गडकरी ने बताया कि गुरूग्राम में हीरो होंडा चैंक पर फलाईओवर मरम्मत के कार्य को 15 फरवरी तक पूरा कर लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने आश्वस्त किया कि इस फलाईओवर को अगले 5 साल मरम्मत की आवश्यकता नही पड़ेगी।
खेड़कीदौला टोल प्लाजा के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में गडकरी ने कहा कि हम इसे शिफट करने के लिए कटिबद्ध हैं और इसके लिए जगह भी चिन्हित की जा चुकी है, लेकिन उच्च न्यायालय में मामला होने के कारण थोड़ी कठिनाई आ रही है। उन्होंने कहा कि कानूनी अड़चनों को कम करते हुए इस टोल प्लाजा को शिफट किया जाएगा।

खेड़कीदौला टोल प्लाजा पर फास्टटैग अनिवार्य करने की वजह से लगने वाली लंबी लाइनो के बारे में पूछे जाने पर गडकरी ने कहा कि ये शुरूआती दिक्कते हैं और धीरे धीरे इन दिक्कतों को दूर किया जा रहा है। उन्होंने बताया िकइस टोल प्लाजा पर 78 प्रतिशत फास्टटैग प्रयोग होने लगा है। जहां कठिनाई है उसकी मशीनरी को रिप्लेस किया जाएगा। एक अन्य सवाल के जवाब में गडकरी ने कहा कि दिल्ली से चंडीगढ़ जाने वाले हाईवे में अधूरे पड़े काम को पूरा करवाया जा रहा है। इस हाईवे पर सभी कार्य पूरे होने में लगभग डेढ़ वर्ष का समय लगेगा।

एक अन्य सवाल का जवाब देते हुए गडकरी ने बताया कि दो दिन तक मानेसर में चली बैठक में देशभर की 730 परियोजनाओं की समीक्षा की गई है और तीन महीने बाद फिर से समीक्षा होगी। उन्होंने यह बताया कि बैठक का उद्देश्य सड़क परिवहन और राजमार्ग निर्माण से जुड़े अधिकारियों को गतिशील और परफोरमिंग बनाना है। उन्होंने कहा कि हर अधिकारी व कर्मचारी का परफोरमेंस आॅडिट किया जाएगा। अच्छा काम करने वाले अधिकारी व कर्मचारी को पुरस्कृत किया जाएगा वहीं खराब प्रदर्शन करने वालों को नमस्ते कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *