Home Breaking डॉक्टर के मृत घोषित करने के बावजूद परिजनों ने मिट्टी के अंदर दबाकर रखा शव

डॉक्टर के मृत घोषित करने के बावजूद परिजनों ने मिट्टी के अंदर दबाकर रखा शव

0
0Shares

Yuva Haryana

Sirsa, 27 July 2019

सिरसा उपमंडल के गांव जममालवाली से अंधविश्वास का एक अनोखा मामला सामने आया है। यहां एक किसान को करंट का झटका लगने के बाद डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। लेकिन हैरान करने वाली बात तो यह है कि परिजनों ने उसके शरीर में मात्र सांस होने की बात कहते हुए उसके शव को कई घंटो तक मिट्टी के अंदर दबाए रखा। जब मृतक के शरीर में कोई हलचल नहीं हुई तो परिजनों ने कालांवाली पुलिस को सूचित कर शव का पोस्टमार्टम करवाया।

दरअसल हुआ ये कि गांव जगमालवाली निवासी 51 वर्षीय जगसीर सिंह वीरवार सुबह पशुओं के लिए बिजली चालित मशीन से चारा बना रहा था। इसी दौरान वह बिजली चालित मशीन की चपेट में आ गया। जिसके बाद जगसीर सिंह की मां ने आस-पास के लोगों को घटना के बारे में सूचित किया। निजी चिकित्सक को बुलाकर जगसीर की जांच करवाई लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इसके बाद जगसीर को जिंदा करने के लिए उसके परिजनों ने करीब 4 घंटे तक मिट्टी में दबाए रखा। परिजनों का कहना था कि ऐसा करने से करंट का असर खत्म हो जाता है और व्यक्ति जिंदा हो जाता है। परिजन मिट्टी में जगसीर के शव को दबाकर हर संभव प्रयास करते रहे। लेकिन जगसीर के शरीर में कोई हलचल नहीं हुई। वहीं थाना प्रभारी रोहताश कुमार ने बताया कि पुलिस ने इत्तफाकिया कार्रवाई करते हुए शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया।

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 327 पॉजिटिव केस, देखिए मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, Chandigarh ये भी पढ़िय…