Home Breaking पीएम मोदी द्वारा फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने की घोषणा पर धनखड़ ने जताया आभार

पीएम मोदी द्वारा फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने की घोषणा पर धनखड़ ने जताया आभार

0
0Shares

Yuva Haryana

Chandigarh, 3 July, 2019

हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने खरीफ फसल 2019-20 मौसम के लिए आज 17 फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने की घोषणा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर का आभार व्यक्त किया है।

केन्द्र सरकार के निर्णय के बारे जानकारी देते हुए धनखड़ ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर वर्ष फसलों के मूल्यों में 1.5 गुणा बढ़ौतरी का स्थायी फार्मूला लागू किया है और इससे किसानों की आय हर वर्ष बढ़ने निश्चित है।

उन्होंने कहा कि इससे पूर्व भी पिछले वर्ष खरीफ फसलों के समय पूर्व न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किये थे और हरियाणा के किसानों ने इसे एक उत्सव के रूप में मनाया था। इसके लिए किसानों ने सरकार का आभार व्यक्त करने के लिए महेन्द्रगढ़ में बाजरा किसान रैली, शाहबाद में सूरजमुखी किसान रैली और बरवाला में कपास किसान रैली का आयोजन किया था।
धनखड़ ने कहा कि 17 खरीफ फसलों में हरियाणा की मुख्य खरीफ फसलें धान, कपास, बाजरा ही हैं परंतु अब किसानों का रूख मक्का, अरहर, सूरजमुखी जैसी फसलों की ओर भी बढ़ा है। उन्होंने कहा कि बाजरे का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1950 रुपये से बढ़ाकर 2000 रुपये प्रति क्विंटल, धान (कॉमन) का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1750 रुपये से बढ़ाकर 1815 रुपये प्रति क्विंटल, धान (ग्रेड ए) का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1770 रुपये से बढ़ाकर 1835 रुपये प्रति क्विंटल, कपास (मध्यम) का न्यूनतम समर्थन मूल्य 5150 रुपये से बढ़ाकर 5255 रुपये प्रति क्विंटल, कपास (लांग स्टैप्ल) का न्यूनतम समर्थन मूल्य 5450 रुपये से बढ़ाकर 5550 रुपये प्रति क्विंटल किया है। इसी प्रकार, सूरजमुखी के न्यूनतम समर्थन मूल्य 5388 रुपये से बढ़ाकर 5650 रुपये प्रति क्विंटल, मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1700 रुपये से बढ़ाकर 1760 रुपये प्रति क्विंटल, अरहर का न्यूनतम समर्थन मूल्य 5675 रुपये से बढ़ाकर 5800 रुपये प्रति क्विंटल की दर से बढ़ाए गए हैं।

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने कहा इसी प्रकार, ज्वार, रागी, मूंग, उड़द, मूंगफली, सोयाबीन, तिल और निगरसीड के न्यूनतम समर्थन मूल्य भी बढ़ाएं गए हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार का यह निर्णय किसानों की आय वर्ष 2022 तक दोगुनी करने के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के विजन को आगे बढ़ाने में एक मील का पत्थर साबित होगा।

विज्ञान की तरक्की के बावजूद भी मानव रक्त का किसी भी प्रयोगशाला में उत्पादन नही किया जा सकता। इसलिए विशेषकर युवाओं को रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए, ताकि किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति को जीवनदान मिल सके। यह बात हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने आज श्री चन्द्रशेखर आजाद चैरीटेबल ट्रस्ट और सॉन फाउंडेशन द्वारा पंचकूला के अग्रसेन भवन में आयोजित रक्तदान शिविर में बोलते हुए कही। उन्होनें रक्तदाताओं का बैज लगाकर उत्साहवर्धन किया। साथ ही संस्थाओं को दस लाख रूपए की राशि देने की भी घोषणा की।

उन्होंने कहा कि जीवन में प्रत्येक आदमी को रक्तदान करना चाहिए। इससे रक्तदान करने वाला व्यक्ति विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचा रहता है साथ ही सामाजिक सेवा और पुण्य प्राप्ति का अवसर भी मिलता है। उन्होनें रक्तदान को महादान बताते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति में प्राचीन समय से ही दान की परंपरा रही है।

आर्य ने कहा कि रक्तदान जैसे सामाजिक कार्यों के लिए प्रत्येक वर्ग को आगे आना होगा तभी देश और समाज को मजबूती मिलेगी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का नया भारत बनाने का सपना साकार होगा। मोदी सरकार ने देश में स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जैसे सामाजिक कार्यक्रमों को आगे बढ़ाया है और अब पौधारोपण के कार्यक्रम को गति दी है। इतना ही नही उन्होनें सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास का भी नारा दिया है। इस नारे का हम सबको अनुसरण कर देश और प्रदेश को उन्नति की राह पर लेकर जाना है।

उन्होंने हरियाणा सरकार की मुक्तकंठ से प्रशंसा करते हुए कहा कि हरियाणा ने केन्द्र और राज्य की विकासकारी योजनाओं को युद्ध स्तर पर लागू किया है, जिससे प्रदेश कृषि, पशुधन, ऑटोमोबाइल इंडस्ट्रीज, खेलों एवं सेना आदि में प्रथम स्थान हासिल किया है।

इससे पूर्व आर्य ने रक्तवीर अमित खंडेलवाल की मूर्ति के समक्ष पूष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। रक्तवीर अमित खंडेलवाल ने रक्तदान करने के लिए जाते हुए रास्ते में अपनी जान गवा दी थी। उन्होनें रक्तदाताओं का उत्साहवर्धन किया और संस्था की विजिटर बुक में रक्तदान शिविर के लिए शुभकामनाओं की टिप्पणी भी लिखी। इस मौके पर इंडिय़न रेड क्रॉस सोसाइटी द्वारा राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को समृति चिन्ह भी दिया। उन्होनें रक्तदाताओं को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम इंडिय़न रेड क्रॉस सोसाइटी हरियाणा शाखा के उपाध्यक्ष डा0 मुकेश अग्रवाल, हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद् के महासचिव कृष्ण ढुल व स्वामी सूर्यानंद सरस्वती सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

पिता ने अवैध रूप से बेटे के नाम करवाई सरकारी जमीन की रजिस्ट्री

Yuva Haryana News, panipat, 10 Aug. 2020 हरियाणा…