हरियाणा की तकदीर और तस्वीर बदलने के लिए दुष्यंत जैसे सांसदों की जरूरत- दिग्विजय

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Chandigarh, 11 March, 2019

जननायक जनता पार्टी के नेता एवं इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि हरियाणा की तकदीर और तस्वीर बदलने के लिए आगामी लोकसभा चुनाव में प्रदेश से दुष्यंत चौटाला जैसे सांसदों को संसद भेजना होगा तभी केंद्र में हरियाणा की आवाज बुलंद होगी। आज युवा,किसान, गरीब, व्यापारी समेत तमाम वर्ग भाजपा को सबक सिखाने के लिए बीजेपी के एकमात्र विकल्प जननायक जनता पार्टी से जुड़ रहे है। दिग्विजय ने कहा कि लोकसभा चुनाव का शंखनाद बज चुका है इसलिए जनता अब बस चंद दिन और भाजपा को सहन करले।

दिग्विजय ने कहा की भाजपा को उसकी झूठी घोषणाएं याद दिलाना हमारा फर्ज है इसलिए देश और  प्रदेश की जनता को भाजपा का 2014 का घोषणापत्र याद दिलाना जरूरी हैं। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन,स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने, हर साल दो करोड रोजगार देने जैसे तमाम बड़े-बड़े  वादे जनता से किए थे,लेकिन वो अब हवा-हवाई साबित हुए है ।उन्होंने कहा की भाजपा के सात सांसदो पर जननायक जनता पार्टी का एक सांसद ही भारी रहा है, जंहा संसद में दुष्यंत ने हरियाणा की जनता के प्रत्येक मुद्दे को उठाया वहीं भाजपा के सांसद इसमें नाकाम रहे।

विरोधियों पर कटाक्ष करते हुए दिग्विजय ने कहा हमें बच्चों का टोला कहने वालों को शायद ये नहीं पता की शहीदे आजम भगत सिंह  ने मात्र 23 वर्ष की उम्र में फांसी का फंदा चुमा था। सुभाष चन्द्र बोस ने देश की आजादी के लिए युवावस्था मे ही सेना बनाकर अंग्रेजों को देश से बाहर किया था। संविधान निर्माता डा.भीमराव अंबेडकर ने देश की दबी कुचले व्यवस्था को बदलने के लिए युवावस्था मे ही संघर्ष कर दिया था। जननायक चौ.देवीलाल ने युवावस्था में ही देश की लड़ाई लड़नी शुरू की थी इसलिए यह बच्चों की टोली ना होकर के क्रांतिकारियों का हुजूम है जिसकी एक झलक जींद उपचुनाव में सभी ने देखी।

दिग्विजय चौटाला ने बीजेपी नेताओं से पूछते हुए कहा कि बीजेपी वाले पहले ये तो बता दे कि उनके पास आंकडे आंऐ कहां से है और यदि आंकडे है तो उनकी संख्या अलग-अलग क्यों है, इससे साफ पता चलता है की भाजपा सैनिकों पर राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा की आगामी चुनाव में लोकसभा और विधानसभा का वोट केवल जेजेपी को देना है, क्योंकि क्षेत्रीय दल ही प्रदेश का भला कर सकते है। तेंलगाना,कर्नाटक, पश्चिम बंगाल सहित जिन प्रदेश में क्षेत्रीय दलों का राज है इसलिए वंहा काम भी होते है ।

दर्जनों परिवारों ने थामा जेजेपी का दामन

आज कालका हलके के दौरे के दौरान दर्जनों परिवारों ने इनेलो,कांग्रेस, भाजपा को छोडकर जेजेपी का दामन थामा। दिग्विजय चौटाला की उपस्थिति में दयाल सिंह बसौला,करतार बसौला,कर्म सिंह बसौला,देवेंद्र बसौला,जग्गा सिंह पूर्व सरपंच, सज्जन सिंह,गुरमुख सिंह,हरदयाल सिंह, गुरप्रीत सिंह, सिमरन सिंह, स्वर्ण सिंह, गुरचरण सिंह,प्रमजीत सिंह, कुशुमलता,महेन्द्र कौर,उषा देवी,किरण जीत कौर,विदया ,पूजा मितल सहित अनेकों ने जेजेपी में शामिल होने की घोषणा करते हुए जजपा का झंडा थामा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *