Home Breaking नगर पालिका चेयरपर्सन के खिलाफ पार्षदों का अविश्वास प्रस्ताव औंधे मुंह गिरा, सर्मथकों में खुशी की लहर

नगर पालिका चेयरपर्सन के खिलाफ पार्षदों का अविश्वास प्रस्ताव औंधे मुंह गिरा, सर्मथकों में खुशी की लहर

0
Surender Wadhawan, Yuva Haryana
Guhla Cheeka, 26 Sept, 2018
गुहला चीका नगर पालिका की चेयरपर्सन अमनदीप शर्मा के खिलाफ पार्षदों द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव औंधे मुंह गिर गया और विपक्ष का कोई भी पार्षद मौके पर नहीं पहुंचा जिसके बाद एसडीएम गुहला ने कोरम ना होने पर अविश्वास प्रस्ताव गिरने की घोषणा कर दी।
जिसके बाद जीत की खबर मिलते ही चेयरपर्सन अमनदीप शर्मा के समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई और अमनदीप शर्मा जिंदाबाद के नारे लगने लगे इस पूरे मामले पर माननीय उच्च न्यायालय की पैनी नजर थी।
अमनदीप शर्मा ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर अविश्वास प्रस्ताव की तिथि स्थगित होने की आशंका जाहिर की थी इसके बाद हाईकोर्ट ने कहा था की आशंका के आधार पर कोर्ट कोई भी फैसला नहीं ले सकता और अगली सुनवाई चुनाव  स्थगित होने पर 28 तारीख को निर्धारित की थी।
इस याचिका में अमनदीप शर्मा ने संविधान के आर्टिकल 21 को आधार बनाते हुए कहा था कि वह गर्भवती है जिसके अनुसार गर्भवती औरत को 14 सप्ताह तक अपने शिशु की रक्षा के लिए किसी भी बैठक या मीटिंग से छुट्टी लेने का अधिकार है अविश्वास प्रस्ताव की तिथि को स्थगित ना किया जाए और चुनाव अधिकारी बीमार या छुट्टी लेने पर किसी अन्य अधिकारी की व्यवस्था की जाए।
अमनदीप शर्मा को यह अंदेशा था कि विपक्षी पार्षद या किसी राजनेता के दबाव में आकर अधिकारियों द्वारा यह तिथि स्थगित न कर दी जाए इसके लिए पार्षद रिंपल रानी ने उपायुक्त कैथल और मुख्य सचिव को कर अविश्वास प्रस्ताव निर्धारित तिथि पर करने के लिए गुहार लगाई थी
सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त
प्रशासन द्वारा किसी भी चुनौती से निपटने के लिए सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए थे नगर पालिका के चारों और धारा 144 लगाई गई थी और नगर पालिका के आसपास के पूरे बाजार को बंद करवा दिया गया था ताकि कोई अप्रिय घटना ना घट सके।
प्रशासन द्वारा नगर पालिका के चारों ओर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था जिसमें लेडीज पुलिस की भी भारी मात्रा में तैनात थी और नगर पालिका परिसर में किसी भी बाहरी व्यक्ति को जाने की अनुमति नहीं थी यहां तक चेयरपर्सन और उनके साथ आई पार्षद रिंपल रानी को भी पुलिस ने आई कार्ड चेक करने के बाद ही मीटिंग हॉल में जाने दिया।
Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

चरखी दादरी सीएमओ का तबादला, जानिए क्या है वजह

Yuva Haryana, Charkhi Dadri चरखी दादरी में स्वास्थ्य विभाग के सिविल सर्जन प्रदीप कुमार तबा…