अवैध खनन के मामले में बड़ी कार्यवाही, तत्कालीन SHO समेत 8 के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Amit Sharma, Yuva Haryana
Tosham, 17 Dec, 2019
भिवानी के खानक में अवैध खनन की शिकायत की पर सुनवाई करते हुए एसडीजेएम जोगेंद्र सिंह की अदालत ने तत्कालीन थाना प्रभारी व HSIIDC के प्रोजेक्ट मैनेजर सहित आठ लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर जांच किए जाने के आदेश जारी किए हैं।
खानक निवासी हरीश जिंदल ने न्यायालय में खानक में अवैध खनन को लेकर शिकायत की थी। मामले में एसडीजेएम जोगेंद्र सिंह की अदालत ने भादस की धारा 193,195,119, 379, 420, 467, 468, 471, 499, 506 व 120बी के तहत तत्कालिन थाना प्रभारी चंद्रभान, एएसआई औमप्रकाश, HSIIDC के प्रोजेक्ट मैनेजर रोहित देशवाल, सुनील शर्मा, जोगेंद्र, जगदीश, रामशरणम स्टोन क्रेशर व शिवम स्टोन क्रेशर मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच करने के आदेश दिए हैं।
हरीश जिंदल ने शिकायत में आरोप लगाया था कि खनन कार्य में लगी कंपनी अवैध खनन करवा रही है। प्रत्येक मंगलवार को खनन कार्य बंद रहता है इसके बावजूद मंगलवार को कोई खनन कार्य करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई करने की जिम्मेदारी एचएसआईआईडीसी है। हरीश जिंदल ने शिकायत में कहा था कि 19 मार्च 2019 को मंगलवार था और खनन कार्य की छुट्टी थी।
इस दिन मौके पर जाकर नाका नंबर 1 पर काफी गाडियों का प्रवेश करवाया गया। उस दौरान इस नाके पर एचएसआईआईडीसी द्वारा नियुक्त कोई व्यक्ति मौजूद नहीं था। इस दौरान इन गाडियों का कोई भार नहीं करवाया गया और गाडियां बिना भार करवाए ही पहाड़ से बाहर आ गई। शिकायतकर्ता हरीश जिंदल ने बताया कि खानक में 19 मार्च 2019 को मंगलवार के दिन खनन क्षेत्र का मौका देखा तो पाया कि अवैध खनन कार्य होने के साथ-साथ भारी भरकम पत्थर भरकर ट्रक पहाड़ से बाहर आ रहे थे।
इस मामले की सुचना पहले प्रोजेक्ट मैनेजर एचएसआईआईडीसी को की। हरीश जिंदल ने बताया कि अवैध खनन कार्य न रूकता देख स्वयं पुलिस थाने पंहुचा व शिकायत दी। इस पर कार्रवाई करने की बजाए पुलिस ने उल्टा मेरे ऊपर ही मुकद्दमा दर्ज कर दिया। तत्पश्चात 13 अक्टूबर को अदालत का दरवाजा खटखटाया।
एडवोकेट राजेश कुमार ने बताया कि छुट्टी के दिन अवैध खनन करवाए जाने के मामले में सुनवाई करते हुए अदालत ने एफआईआर दर्ज कर जांच के आदेश जारी किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *