मृतक पत्नी के लिए लड़ी जंग, कराया अस्पताल व डॉक्टर का लाइसेंस रद्द

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Kurukshetra, 02 July 2019

नीजी अस्पताल में महिला की डिलीवरी के बाद महिला की मौत के मामले में जिला कष्ट निवारक समिति की बैठक की गई। जोकि राज्यमंत्री कर्मदेव कंबोज की अध्यक्षता में हंगामे के साथ संपन्न हुई। जिसमें मंत्री ने अस्पताल का लाइसेंस रद्द करते हुए डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कड़ी कार्रवाई करने के आदेश दिए।

गौरतलब है कि खेड़ी मारकंडा सरस्वती कॉलोनी की रहने वाली करिश्मा की मौत 10 महीने पहले महिला डॉक्टर की लापरवाही की वजह से हो गई थी। मामले में अब महिला चिकित्सक के अलावा अन्य चिकित्सकों और प्राइवेट अस्पताल पर भी कार्रवाई होगी।

गौरतलब है कि 14 अक्टूबर को करिश्मा की पीजीआई चंडीगढ़ में मौत हो गई थी। महिला के पति बीएसएफ में तैनात है और उन्होंने ही इस मामले में डॉक्टर की शिकायत की। मामला उस वक्त गर्म हो गया जब सारे डॉक्टर एक साथ उनपर धमक पड़े। शिकायतकर्ता ने कहा कि वह 28 जून को इस मामले की शिकायत पुलिस से कर चुका था लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

जिसके बाद कष्ट निवारक समिति की बैठक में  कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज की रिपोर्ट व सीएमओ की रिपोर्ट देख  राज्यमंत्री कर्णदेव कंबोज ने अस्पताल का लाइसेंस रद्द करने के आदेश दिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *