नहीं थम रही विज की मुश्किलें, अब डिप्लोमा इंजीनियर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने दी ये खास चेतावनी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Kaithal, 16-05-2018

कैथल में  जिला शिकायत निवारण समिति की बैठक में स्वास्थ्य व खेल मंत्री अनिल विज द्वारा हुए पब्लिक हेल्थ विभाग के एसडीओ वेदपाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने, उसकी गिरफ्तारी व सस्पेंशन को लेकर डिप्लोमा इंजीनियर एसोसिएशन का धरना लगाताऱ  जारी है।

डिप्लोमा इंजीनयर एसोसिएसन के पदाधिकारियों का कहना  है कि अगर सरकार ने जल्द एसडीओ वेदपाल को बहाल नहीं किया व उन  पर हुए कातिलाना हमले के दोषियों को गिरफ्तार नहीं किया तो बिजली ,  पानी , सीवर व अन्य जन सेवाएं बाधित कर देंगे जिसकी जिम्मेदार सरकार होगी।

आपको बता दें कि कैथल जिला शिकायत निवारण समिति की बैठक में स्वास्थ्य व खेल मंत्री अनिल विज द्वारा हुए पब्लिक हेल्थ विभाग के एसडीओ वेदपाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने, उसकी गिरफ्तारी व सस्पेंशन की सिफारिश पर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार, अनिल विज, गुहला विधायक  कुलवंत बाजीगर सहित अन्य को नोटिस जारी कर जवाब तलब कर लिया है।

हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करते हुए वेदपाल ने कहा था कि वह अपना काम पूरी ईमानदारी से कर रहा था। इसी बीच एक दिन विधायक कुलवंत बाजीगर के भतीजे द्वारा टैंकर भेजने की डिमांड की गई और लगातार उनपर दबाव बनाया गया। जब उन्होंने इससे इनकार कर दिया तो उसके साथ ऑफिस में मारपीट भी हुई थी।

याची ने कहा कि डिस्ट्रिक्ट ग्रिवियंस कमेटी की बैठक में उनके खिलाफ एक झूठी शिकायत पेश की गई। इस शिकायत को आधार बनाकर बिना उनका पक्ष सुने उनके खिलाफ एफआईआर की सिफारिश कर दी और गिरफ्तारी तक के आदेश दे दिए।

याची ने बताया कि जिस शिकायत के आधार पर उनके खिलाफ यह सिफारिश की गई थी, उसकी जांच एसई ने की थी और एसई एके पाहवा खुद विज के सामने आकर बता रहे थे कि उनकी जांच में एसडीओ पर लगे आरोप गलत मिले हैं।

बावजूद इसके उनके खिलाफ इस तरह की टिप्पणी व सिफारिश कर दी गई। याची ने कहा कि डिस्ट्रिक्ट ग्रिवियंस कमेटी को ऐसा कोई अधिकार ही नहीं है कि वह एफआईआर, गिरफ्तारी या सस्पेंशन के आदेश जारी कर सके।

विज ने ज्यूडिशियल व पुलिस पावर इस्तेमाल किया जो उनके अधिकार क्षेत्र के बाहर है। हाईकोर्ट ने याची का पक्ष सुनने के बाद याचिका पर हरियाणा सरकार, अनिल विज, कुलवंत बाजीगर सहित अन्य को नोटिस जारी कर जवाब तलब कर लिया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *