ट्रम्प का भारत दौराः अमरीका व भारत के बीच बड़ी ट्रेड डील होने की संभावना

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरे के दौरान अमरीका व भारत के बीच एक बड़ी ट्रेड डील होने की भी संभावना है। परंतु इस डील को लेकर पोल्ट्री फार्मर गहरी चिंता में है कि यदि पोल्ट्री से संबंधित चिकन लैग को लेकर कोई सस्ते टैक्स सम्बंधित डील होती है तो देश में चल रही एक लाख करोड़ की पोल्ट्री इंडस्ट्री जिसमें लगभग दो से तीन करोड व्यक्ति जुड़े हुए है व अपना रोजगार कमा रहे हैं वह बर्बादी के कगार पर पहुंच जायेंगे । इसका असर यह होगा कि धीरे धीरे देश की पोल्ट्री इंडस्ट्री भी समाप्त हो जाएगी।

पोल्ट्री फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष रमेश खत्री ने बताया कि पोल्ट्री इंडस्ट्री पिछले लगभग 1 वर्ष से लगातार नुकसान में चल रही है। उन्होंने बताया कि मुर्गा तैयार करने की लागत लगातार बढ़ती जा रही है और होलसेल में इसके दाम लगातार गिरते जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि एक मुर्गा तैयार करने में 80 से 85 रूपये किलोग्राम के हिसाब से लागत आती है। जिसकी होलसेल में कीमत इसके लागत मूल्य से काफी कम है । उन्होंने बताया कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आ रहे हैं और वह इस कोशिश में है कि अमेरिकी चिकन लेग पर लगाई जाने वाली इंपोर्ट ड्यूटी को समाप्त करवा दें या बेहद कम कर दिया जाए। यदि भारत सरकार ऐसा करती है तो पोल्ट्री इंडस्ट्री देश से बिल्कुल खत्म हो जाएगी।

उन्होंने बताया कि अभी इंपोर्टेड चिकन लेग पर 100% इंपोर्टे ड्यूटी लगाई जा रही है। उनकी मांग है कि इसे किसी भी तरह से कम ना किया जाए।उन्होंने बताया कि पूरे देश में 50 लाख पोल्ट्री फार्म चल रहे हैं जिसमें करीब तीन से चार करोड लोग इनसे अपना गुजर-बसर चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे देश में बेरोजगारी को भी बढ़ावा मिलेगा।उन्होंने कहा कि खबर आयी है कि, भारत ने अमेरिका के साथ संभावित ट्रेड डील के लिए अपनी डेयरी और पोल्ट्री इंडस्ट्री में छूट देने का ऑफर दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने अमेरिका से चिकन के आयात पर भी टैक्स में छूट देने का ऑफर दिया है।

गौरतलब है कि अभी तक चिकन लेग पर 100% टैक्स लगता है, जिसे अब घटाकर 25% किया जा सकता है। हालांकि अमेरिका की मांग है कि इसे और घटाकर सिर्फ 10% पर लाया जाए। यदि यह डील होती है तो देश की पोल्ट्री इंडस्ट्री पर इसका बेहद बुरा असर पड़ने की आशंका है। रमेश खत्री का कहना है कि हम अपनी मांग को लेकर पूरे देश भर में जिला स्तर पर जिला उपायुक्त को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा कि इस इंपोर्ट ड्यूटी को किसी भी तरह से कम ना किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *