दिवाली की सफाई में पुरानी किताबें मिलें, तो कबाड़ी के बजाय संस्था को करें दान

चर्चा में स्थानीय हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Rohtak, 3 Nov, 2018

दिवाली का त्योहार आने ही वाला है और घरों की साफ-सफाई का दौर जारी है। साफ-सफाई के दौरान घरों में पुरानी किताबें भी मिलती ही हैं और हम इन्हें कबाड़ी वाले को दे देते हैं। यह किताबें जरूरतमंदों या पढ़ने वालों तक पहुंच जा,एं तो यह एक अच्छा आइडिया हो सकता है।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए सामाजिक संस्था ‘विलक्षणा एक सार्थक पहल’ समिति ने कबाड़ में मिली इन किताबों को एकत्रित कर जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाने का जिम्मा उठाया है। संस्था की संस्थापक एवं अध्यक्ष डा. सुलक्षणा ने बताया कि संस्था जल्द ही ऐसी लाइब्रेरी शुरू करने जा रही है, जहां घरों में बेकार रखी किताबों को डोनेट किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि शुरुआत में लाइब्रेरी रोहतक जिले के अजायब गांव में शुरू होगी और उसके इस श्रृंखला को आगे बढ़ाया जाएगा। डा. सुलक्षणा ने बताया कि संस्था के सदस्यों ने लोगों से साफ- सफाई के दौरान मिली किताबों को कबाड़ी को न बेचते हुए संस्था को सौंपने का आग्रह किया गया है, ताकि उस किताब को कोई जरूरतमंद व्यक्ति पढ़ सके।

ऐसे आया आइडिया –
डा. सुलक्षणा ने बताया कि वो पिछले 14 सालों से शिक्षा के क्षेत्र से जुड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि इन वर्षों में बहुत से बच्चे देखे जो पढ़ना तो चाहते हैं, लेकिन संसाधनों की कमी के चलते वो किताबें नहीं खरीद पाते हैं। बस इसी वजह से उन्होंने सोचा क्यों ना वो अपनी संस्था के माध्यम से एक नई शुरुआत करें। इसी सोच के चलते उन्होंने संस्था के सदस्यों से चर्चा कर ऐसी लाइब्रेरी शुरू करने की सोची है।

यहां कर सकते हैं किताबें दान-
डा. सुलक्षणा ने बताया कि अगर कोई भी व्यक्ति या लाइब्रेरी आदि पुरानी किताबों को दान करना चाहे, तो रोहतक के अजायब गांव में संस्था के मुख्यालय में संपर्क कर सकते हैं या मोबाइल नंबर 9996571500, 9873349005 पर संस्था के सदस्यों से संपर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *