रामपाल समेत 14 लोगों को दो बार उम्रकैद की सजा, जानिये कौन-कौन है सजा में शामिल

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Vinod Saini, Yuva Haryna
Hisar, 17 Oct, 2018
हिसार सैट्रल जेल में दोषी करार रामपाल सहित 14 लोगों को मुकदमा नंबर 430 में सजा का ऐलान किया। जज डीआर चालिया ने फैसला सुनाते हुए रामपाल उसके बेटे सहित 14 लोगों को उम्र कैद व एक एक लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। मुकदमा नंबर 429 में अदालत ने ऊम्र कैद व एक एक लाख रुपये की जुर्माने की सजाई थी। ये दोनो सजाए साथ साथ चलेगी और अदालत में सभी आरोपियों को अलग से 2 लाख 5 हजार जुर्माना भरना होगा।
मुकदमा नंबर .430 में इन आरोपियों को सुनाई गयी सजा-
इस मामले में सत लोक आश्रम के रामपालए उसके बेटे बिरेद्र व भाजने के अलावा हिसार की लक्ष्मी बिहार कालोनी निवासी बबीता, भिवानी के इम्लौटा निवासी प्रीतम उर्फ  राज कपूर, सोनीपत के भडगाव निवासी राजेंद्र, झज्जर के बिराहाना निवासी कृष्ण,  हिमाचल प्रदेश के किन्नौर  रिब्बा निवासी बलवाल, तकसाल निवासी पवन, सोलन के डिरग गांव निवासी राजीश शर्मा, राजस्थान के सुमेरपुर उमंडल के गांव पूमावास निवासी राजेश उर्फ रमेश, ओगना के नर सिंह पुरा निवासी नटरवार लाल उर्फ लक्ष्मण, सवाई माधोपुर के सूर्य नगर कालोनी निवासी राजेश और कुरुक्षेत्र के बोराना निवासी राजेद्र को आजीवन कारावास व एक लाख 5 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।
 दूसरे दिन भी प्रशासन की और से पुलिस तैनात 48  स्थानों पर  सुरक्षा के लिहाज से तीस डयूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त  किए गए थे। डीआईजी और आईजी सहित 6 आईपीएस अधिकारियों तथा दस डीएसपी टीम को नियुक्त किया कडी निगरानी में  दूसरे जिलो से फोर्स बुला कर 1500 जवानों को किया गया तैनात किया था साथ ही तीन बटालियनों को हिसार में नियुक्त  किया गया है। रेलवे स्टेशन व बस अड्डे पर पुलिस सुरक्षा के किए कडे इतजाम किये गए हैं। वहीं आज भी सुरक्षा के लिहाज से धारा 144 भी लागू रहेगी।
रामपाल पर सबसे बडा मुकदमा 
सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल पर सबसे बडा मुकदमा एफआईनंबर 428 में देशद्रोह का है इसमें राम सहित 945 आरोपी है ये मुकदमा कोर्ट में विचारधीन चल रहा है इसकी सुनवाई सैंट्रल जेल में चल रही है।
रामपाल के अधिवक्ता एपी सिंह ने बताया कि अदालत ने रामपाल सहित अन्यों को ऊम्रकैद व एक लाख रुपये व पांच हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। उन्होंने बताया कि बताया कि मुकदमा नंबर 429 में सजा सुनाई  थी ये सजाए दोनों एक साथ चलेगी। उन्होंने बताया कि दोनो मामलो में जुर्माना 2 लाख पांच हजार रुपये जुर्माना किया गया है। उन्होंने बताया कि उन्होने दलील रखते हुए अदालत को बताया कि रामपाल हरियाणा सरकार के एम्लाइज रहे है ऐसे में उन्हें ज्यादा सख्त सजा नही दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि रामपाल ने समााजिक क्षेत्र में काम किया है। उन्होंने बताया कि वे इस फैसले को लेकर अगली कोर्ट मे याचिका दायर करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *