हरियाणा से लेफ्टिनेंट जनरल डीपी वत्स निर्विरोध राज्यसभा सदस्य चुने गए

Breaking बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

हरियाणा से राज्यसभा की एक सीट के लिए लेफ्टिनेंट जनरल डीपी वत्स को निर्विरोध चुना गया है। राज्यसभा सदस्य चुने जाने पर निर्वाचन अधिकारी आईएएस विजय सिंह दहिया ने उन्हें सर्टिफिकेट दिया। राज्यसभा सांसद डीपी वत्स के साथ सीएम मनोहर लाल, रामबिलास शर्मा और विधानसभा स्पीकर कंवरपाल गुर्जर भी मौजूद रहे।

एक ही नामांकन आने से वत्स का राज्यसभा जाना तय हो गया। कांग्रेस और इनेलो की तरफ से कोई उम्मीदवार न उतारने से उनकी उच्च सदन में पहुंचने का रास्त आसान हो गया। वत्स अब कांग्रेस सांसद शादीलाल बत्तरा का स्थान लेंगे।

डीपी वत्स के आने के साथ ही राज्यसभा में भाजपा सांसदों की संख्या बढ़ी गई है। राज्यसभा सदस्य निर्वाचित होने के बाद लेफ्टिनेंट जनरल डीपी वत्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह और सीएम मनोहर लाल का धन्यवाद किया।

इस से पहले 2011 में हुड्डा सरकार में हरियाणा लोक सेवा आयोग के चेयरमैन बने थे, 2014 के विधानसभा चुनाव के दौरान वत्स ने खुद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों से प्रभावित बताया और बीजेपी में शामिल हो गए थे।

बता दें कि डी पी वत्स 16 अप्रैल 1950 को हिसार जिले के नारनौंद क्षेत्र के थुराना गांव में जन्मे एक डॉक्टर हैं और पुणे स्थित प्रतिष्ठित आम्र्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज के कमांडेट और निदेशक रहे। जनरल वत्स ने रोहतक पीजीआईएमएस से डॉक्टरी की और 1975 में सेना में चुने गए। सेना में सेवाओं के दौरान डीपी वत्स को कई अवॉर्ड भी मिले है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *