रेलवे के हजारों कर्मचारियों की जा सकती है नौकरी, मंत्रालय ने लिया फैसला

Breaking देश बड़ी ख़बरें रोजगार सरकार-प्रशासन

Yuva Haryana

Delhi, 13 June, 2018

घाटे में चलने के कारण रेलवे विभाग ने देश भर से 10840 पदों को समाप्त करने का निर्णय लिया है, जिसकी शुरूआत कर दी गई है। बता दें कि 11 जून को रेल मंत्रालय ने सभी 16 जोन से पद समाप्त करने के इस फैसले पर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन से अनुमति प्राप्त कर ली है।

उनका सबसे अधिक ध्यान उत्तर रेलवे के अंबाला, लखनऊ. फिरोजपुर, मुरादाबाद और दिल्ली के पदों पर है, जहां 2018-19 तक पांचों मंडल में 1500 कर्मचारियों के पद खत्म कर दिए जांएगे। साथ ही फाटकों को मानव रहित बना कर पद समाप्त करने का निर्णय भी लिया गया है।

रेलवे पत्र में लिखी जानकारी के मुताबिक सेंट्रल रेलवे से 1 हजार, नार्दन रेलवे से 1500, इस्टर्न रेलवे से 1100, ईस्ट कोस्ट ओडिशा रेलवे से 700, इस्टर्न सेंट्रल रेलवे से 300, नार्थ सेंट्रल रेलवे से 165, नार्थ इस्टर्न रेलवे से 700, नार्दन फ्रंट रेलवे से 550, नार्थ वेस्टर्न रेलवे से 300, साउथ रेलवे से 1500, साउथ सेंट्रल रेलवे से 800, साउथ इस्टर्न रेलवे से 825, साउथ इस्टर्न सेंट्रल रेलवे से 400, साउथ वेस्टर्न रेलवे से 200, वेस्टर्न रेलवे से 700, वेस्टर्न सेंट्रल रेलवे से 300 पद समाप्त किए जाएंगे।

इसके साथ ही रेलवे मंत्रालय ने यात्रियों के लिए प्राइवेट टिकट एजेंसी और ऑनलाइन टिकट की सुविधाएं भी शुरू करवायी है। यात्रियों को कर्मचारियों पर निर्भर न रहने पड़े इस लिए रेलवे विभाग द्वारा स्टेशनों पर वेंडिंग मशीन उपलब्ध करवाई जा रही है।

रेलवे विभाग सी ग्रुप और डी ग्रुप के कर्मचारियों के पद भी कम करने पर ध्यान दे रहा है। हालांकि यात्रियों की सुरक्षा से जुड़े पदों को रेलवे विभाग समाप्त नहीं करेगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *