दुष्यंत और अशोक तंवर एक साथ, सत्ता की चाबी जेजेपी के हाथ

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

16 oct, 2019

हरियाणा विस चुनाव के लिए मतदान से ठीक पांच दिन पहले प्रदेश की राजनीति में एक नया मोड़ आ गया है, कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष रह चुके व वरिष्ठ नेता डा. अशोक तंवर ने अपने हजारों कार्यकर्ताओं के साथ दुष्यंत चौटाला की जेजेपी को सर्मथन देने की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि दुष्यंत चौटाला प्रदेश में 36 बिरादरी को साथ लेकर चल रहे हैं और उन्हें मुख्यमंत्री बनाने के लिए मेरा पूरा समर्थन उनके साथ है। यह घोषणा डा. अशोक तंवर ने नई दिल्ली के कांस्टीट्यूशनल क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता में की। वहीं पत्रकार वार्ता में जेजेपी नेता दुष्यंत चौटाला भी मौजूद थे। पांच साल तक कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष और सिरसा से सांसद रह चुके डॉ अशोक तंवर ने कुछ समय पहले कांग्रेस छोड़ने के बाद बुधवार को जेजेपी को अपना समर्थन देने की घोषणा की। जिसके बाद हरियाणा की राजनीति में नया सियासी समीकरण बन गया है।

विधानसभा चुनावों का बिगुल बजने के बाद जनता के अभूतपूर्व समर्थन के चलते जेजेपी सत्ता की दौड़ में शामिल हो गई थी और अब राहुल गांधी के नजदीकियो में गिने जाने वाले अशोक तंवर के दुष्यंत के साथ खड़े हो जाने से जेजेपी के हाथ सत्ता की चाबी लगती दिख रही है।

डा. अशोक तंवर ने कहा कि मैंने अपने साथियों के साथ बातचीत करने के बाद ही विधानसभा चुनावों में जननायक जनता पार्टी को समर्थन देने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि अच्छे लोगों का हम समर्थन करेंगे और मैं अंहिसवादी हूं और मेरी यह मुहिम केवल विधानसभा चुनावों तक सीमित नहीं है। बल्कि चुनावों के बाद भी रहेंगी।

जेजेपी को समर्थन देने के लिए दुष्यंत चौटाला ने किया डॉ अशोक तंवर को धन्यवाद

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ये सब केवल असेंबली इलेक्शन तक ही सीमित नहीं है बल्कि आगे भी देश भर मे घूम-घूम कर सहयोग जुटाया जाएगा। आज लड़ाई केवल हरियाणा की नहीं बल्कि पूरे देश में घूम कर राष्ट्रीय निर्माण की है जोकि अब थमने वाली नहीं है। उन्होंने कहा कि संत रविदास मंदिर मामले में आज भी 96 लोग तिहाड़ जेल में बंद हैं जिनमें से 55 अकेले हरियाणा से हैं। अफसोजनक बात यह है कि केंद्र सरकार ने कभी इसके घटना के लिए खेद भी नहीं जताया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *