युवाओं को रोजगार नहीं, किसानों को समर्थन मूल्य नहीं, फिर कैसा संकल्प पत्र- दुष्यंत चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Chandigarh, 10 April, 2019

जननायक जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद दुष्यंत चौटाला ने बीजेपी के घोषणा पत्र पर बोलते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने 75 प्वाइंट का एक जुमला पत्र बनाया है। उन्होंने भाजपा सरकार से पूछते हुए कहा कि पांच साल से सत्ता में रहने के बाद भाजपा बेरोजगारी, गरीबी, महंगाई पर क्यों काबू नहीं ला पाई।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने से पहले तमाम वादे जनता से किए, लेकिन आज एक भी वादे को वो पूरा नहीं कर पाई। सांसद चौटाला ने युवाओं की बात उठाते हुए कहा कि आज बीजेपी ने अपने संकल्प पत्र के अंदर युवाओं को रोजगार देने की एक भी बात नहीं रखी और न ही पांच साल के अंदर भाजपा ये बता पाई कि कितने युवाओं को नौकरियां दी गई, जबकि सरकार ने मेक इन इंडिया, मुद्रा समेत कई योजनाओं पर करोड़ों रुपए खर्च किए।

सासंद दुष्यंत चौटाला ने भारत को कृषि प्रधान देश बताते हुए कहा कि बीजेपी सरकार अपने घोषणा पत्र में 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की बात कहती है, लेकिन पिछले पांच साल तक सरकार ने किसानों की दशा सुधारने के लिए क्या-क्या कदम उठाए। उन्होंने भाजपा सरकार से पूछते हुए कहा कि पिछले पांच साल किसानों की फसलों पर सरकार ने कितना समर्थन मूल्य दिया है, वो बताएं।

सांसद दुष्यंत ने हैरानी जताते हुए कहा कि आज प्रदेश सरकार सरसों का समर्थन मूल्य 4200 रुपए निर्धारित करने का प्रचार-प्रसार कर रही है। लेकिन मंडियों में किसानों की सरसों की फसल नहीं बिक रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसान विरोधी नीति अपनाते हुए सरसों की खरीद पर कठिन शर्ते निर्धारित कर रखी है।

खरीद के लिए ऑनलाइन पंजीकरण, एक किसान से मात्र 25 क्विंटल सरसों आदि ऐसी शर्तें जिसका किसान प्रदेशभर में विरोध कर रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार की ऐसी नीतियां ये सब दर्शाती है कि वो कितनी किसान विरोधी है।  इसके अलावा सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार से हाल ही में प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश और ओलावृष्टि के कारण किसानों की खराब हुई रबी फसल को लेकर मुआवजा देने की मांग की है।

उन्होंने कहा कि भारी बारिश और ओलावृष्टि की वजह से प्रदेश के कई हिस्सों में किसानों की फसल को नुक्सान पहुंचा है। जिसके लिए सरकार तुरंत गिरदावरी करके किसानों को उचित मुआवजा दें, वहीं सरकार सरसों की खरीद को जल्द सही ढंग से करवाते हुए 4200 रुपए प्रति क्विंटल का दाम किसान को दें।

सांसद दुष्यंत ने कहा कि भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में महिलाओं को लेकर तीन तलाक के अलावा कोई वादा नहीं किया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने न तो महिला सुरक्षा पर बात की और न ही महिला सशक्तिकरण के बारे में कुछ कहा। उन्होंने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी ने पानीपत से इस अभियान की शुरुआत की थी, लेकिन इस योजना में सरकार ने करोड़ रूपए विज्ञापन में खर्च किए, जबकि जमीनी स्तर पर महिलाओं के लिए कुछ काम नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में महिलाएं कितनी सुरक्षित है यह सब जग जाहिर है। क्राइम ग्राफ में हरियाणा बिहार को भी पीछे छोड़ चुका है।

वहीं सांसद दुष्यंत चौटाला ने प्रदूषण पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि बीजेपी के संकल्प पत्र में ऐसा कुछ नहीं देखने को मिला जिससे बढ़ते प्रदूषण पर कंट्रोल किया जा सके। उन्होंने कहा कि हैरानी की बात यह है कि गुरुग्राम दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर है लेकिन प्रदेश सरकार ने गुरुग्राम में प्रदूषण कंट्रोल करने की बजाय उसे और गंदा करने का काम किया है।

सांसद दुष्यंत चौटाला ने गठबंधन के सावलों पर बोलते हुए कहा कि इस पर पार्टी की तीन सदस्यीय कमेटी ने अपनी रिपोर्ट तैयार कर ली है। जल्द ही पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी इस पर फैसला लेते हुए नवरात्रों के बीच में खुशखबरी देगी। उन्होंने कहा कि जननायक जनता पार्टी लोकसभा चुनाव में बड़े परिवर्तन की मजबूत नींव रखने का काम करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *