डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की अध्याक्षता में हुई जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

*- डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की अध्याक्षता में हुई जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक*
*- कष्ट निवारण समिति जिले का सबसे सम्मानित सदन – डिप्टी सीएम*
*- बैठक में शिकायतों का समाधान करने का भरसक प्रयास किया जाता है – डिप्टी सीएम*

*पानीपत/चंडीगढ़, 12 दिसम्बर।* पानीपत में लघु सचिवालय के द्वितिय तल सभागार में नई सरकार के दौर की जिला कष्ट निवारण समिति की पहली बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्याक्षता हरियाणा उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने की।

उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि कष्ट निवारण समिति जिले का सबसे सम्मानित सदन है। यहां शिकायतकर्ता की शिकायत का समाधान करने का भरसक प्रयास किया जाता है ताकि जिले की जटिल समस्याओं का समाधान भी समय रहते किया जा सके। जिला प्रशासन के समक्ष कोई जटील समस्या आ रही है तो उसका समाधान जिला कष्ट निवारण समिति के माध्यम से किया जाता है। उन्होंने जहां अधिकारियों को पूरी तैयारियों के साथ इस बैठक में भाग लेने का निर्देश दिया वहीं उन्होंने लोगों से यह अनुरोध भी किया कि वे जो समस्याएं अदालतों या उपभोक्ता फोरम में विचारधीन हो उन्हें इस समिति की बैठक के पटल पर ना रखा जाए।

इससे पहले उप मुख्यमंत्री के पानीपत के प्रथम आगमन पर उन्हें गार्ड ऑफ आनर दिया गया और शहर की विभिन्न धार्मिक व समाजसेवी संस्थाओं की ओर से उनका स्वागत किया गया। उपायुक्त सुमेधा कटारिया ने उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को बैठक में पंहुचने पर जिला प्रशासन की ओर से स्वागत किया। बाद में पत्रकारों से बात करते हुए उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कष्ट निवारण समिति की बैठकें इसलिए बनाई गई हैं कि लोगों के लम्बित मामले कोर्ट की बजाय यहां सुलझाए जा सकें।

बैठक में विधायक महिपाल ढांडा, शहरी विधायक प्रमोद विज, इसराना के विधायक बलबीर बाल्मिकी, जिला परिषद की चेयरपर्सन आशु शेरा, उपायुक्त सुमेधा कटारिया, एसपी सुमित कुमार, एडीसी प्रीति, निगमायुक्त ओम प्रकाश, समालखा के एसडीएम साहिल गुप्ता व पानीपत के एसडीएम दलबीर सिंह नगराधीश, सुमन भांखड के अलावा कष्ट निवार्ण समिति के अधिकतर सदस्य भी मौजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *