1987 में कांग्रेस का घमंड टूटा था, अगस्त के बाद भाजपा का तोड़ेंगे हरियाणा के लोग – दुष्यंत चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh, 15 June, 2019

जननायक जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि हरियाणा की भाजपा सरकार घमंड में चूर है और इसके नेता वक्त वक्त पर प्रदेश के आम लोगों की तौहीन कर रहे हैं। दुष्यंत ने कहा कि हरियाणा के स्वाभिमानी लोग ऐसे व्यवहार को बर्दाश्त नहीं करते और तीन महीने बाद ही हरियाणा भाजपा का घमंड चूर कर देंगे।

पलवल में पार्टी कार्यकर्ताओं से खचाखच भरे सभागार में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि हरियाणा सरकार के मंत्री अपने-अपने हलकों में भारी विरोध का सामना कर रहे हैं। लोग उनसे झूठे वादों का हिसाब पूछते हैं तो ये नेता बौखला जाते हैं। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान भी भाजपा सरकार के मंत्री कहीं गाली देते हुए दिख रहे थे तो कहीं दूसरे मंत्री वांछित अपराधियों के साथ घूम रहे थे। यही नहीं, दर्जनों जगह पर लोगों ने भाजपा नेताओं को प्रचार के लिए गांव में घुसने तक नहीं दिया।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ये घमंड की इंतहां है कि भाजपा नेता लोगों से बेशर्मी से कहते हैं कि वोट देना हो तो दें, नहीं देना हो तो बेशक ना दें। पूर्व सांसद ने कहा कि लोकसभा चुनाव में राष्ट्रवाद जैसे भावनात्मक मुद्दों से प्रभावित होकर लोगों ने नरेंद्र मोदी के नाम पर वोट दे दिए, लेकिन विधानसभा चुनाव में वही लोग हरियाणा के भाजपाईयों को सबक सिखाने का इंतज़ार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश के नाम पर तो 1984 में लोगों ने काग्रेस को 432 सीटें दी थी लेकिन 3 साल बाद हरियाणा में विधानसभा चुनाव हुए तो कांग्रेस को 90 में से 5 सीटों पर समेट दिया और चौधरी देवीलाल के नेतृत्व वाले विपक्ष को 85 सीटें दी। दुष्यंत ने कहा कि जो काम 30 साल पहले 3 साल में हुआ, वो इस साल 3 महीने में हो जाएगा क्योंकि अब लोगों तक सूचनाएं बहुत तेज़ी से पहुंचती हैं।

दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उनकी पार्टी हरियाणा के हर युवा को रोजगार का अधिकार दिलवाने की नीति पर चल रही है और सरकार बनाते ही निजी क्षेत्र में 75 फीसदी आरक्षण का प्रावधान कर हरियाणा के युवाओं को लाखों की संख्या में रोजगार दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार ने निजी क्षेत्र में निवेश के नाम पर करोड़ों रुपये खर्च कर सम्मेलन तो किए लेकिन नतीजा कुछ नहीं आया। उन्होंने कहा कि हरियाणा की भाजपा सरकार दिशाहीन है और खामियाज़ा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

पलवल में कार्यकर्ता सम्मेलन में पहुंचे लोगों में शानदार जोश देखने को मिला और सभास्थल में तिल रखने को भी जगह नहीं बची। खचाखच भरे हॉल में लोगों ने पहली मंजिल की बालकनी में खड़े होकर भी नेताओं को सुना। दुष्यंत चौटाला ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव की हार से कार्यकर्ताओं को निराश होने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि मात्र 6 महीने पहले बनी जजपा ने बड़ी मजबूती के साथ जींद उपचुनाव और लोकसभा का चुनाव लड़ा है। चौटाला ने कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि तमाम परिस्थितियों में जजपा के कार्यकर्ताओं ने मेहनत के दम पर ये साबित कर दिखाया कि अगर कोई प्रदेश में बदलाव ला सकता है तो वो जननायक जनता पार्टी ही है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अब समय निराश होने का नहीं बल्कि सभी कार्यकर्ताओं को दिन-रात एक करते हुए चुनावी मैदान में मेहनत के साथ उतर जाने का है।

दुष्यंत चौटाला ने ताऊ देवीलाल के संघर्ष का जिक्र करते हुए कार्यकर्ताओं को बताया कि जननायक चौधरी देवीलाल अपने संघर्ष काल में हर समय प्रदेश की जनता के बीच में रहते थे। पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह के हवाले से दुष्यंत ने बताया कि चौधरी देवीलाल ने एक चुनावी साल में 390 दिनों में से सिर्फ 5 दिन अपने घर पर बिताए थे। बाकी दिनों में उन्होंने सुबह 5 बजे से लेकर रात के 12-12 बजे तक जनता के बीच रहते हुए पूरे देश का दौरा किया। उन्होंने कहा कि इसी संघर्ष के बलबूते देश व प्रदेश में बदलाव लाते हुए ताऊ उप प्रधानमंत्री के पद तक पहुंचे। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि आपके पास मात्र 100 दिन है, इन 100 दिनों में जजपा के सभी कार्यकर्ता ताऊ देवीलाल बनकर प्रदेश में बदलाव लाने का काम करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *