सरसों का सरकारी भाव 42 सौ रूपये, किसान तीन हजार में बेचने को मजबूर- दुष्यंत

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Hisar, 26 March, 2019
भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में किसान लूट का सबसे सॉफ्ट टारगेट बने हुए हैं। पीएम से लेकर सीएम मनोहर लाल खट्टर तक ने फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य का ढिंढोरा पीटने में करोड़ों रूपये बर्बाद कर दिए, पर न किसान को न्यूनतम समर्थन मूल्य मिल रहा और न ही फसलों की सरकारी खरीद हो रही है। आर्थिक बोझ के तला किसान अपनी सरसों की फसलों को मार्केट में तीन हजार रूपये प्रति क्विवंटल तक बेचने को मजबूर है जबकि सरकारी भाव 42 रूपये प्रति क्विंटल है। सीएम, उनके मंत्री व  भाजपा के नेता सारे मुद्दों को भुला कर अपने आप को चौकीदार की भूमिका में साबित करने में एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए हैं। यह बात सांसद दुष्यंत चौटाला ने कही। वे यहां नारनौंद हलके के गांव सिसाय में ग्रामीणों से रूबरू हो रहे थे।
सांसद दुष्यंत चौटाला भाजपा पर जमकर बरसे। उन्होंने सवाल उठाते हुए पूछा कि कहां हैं भाजपा के वो लोग जो कमीज उतार कर स्वामीनाथन की रिपोर्ट को लागू करने सड़कों पर उतरे थे, कहां हैं भाजपा सरकार के वो मंत्री व नेता जिन्होंने न्यूनतम समर्थन मूल्य में डेढ़ गुना बढ़ौतरी का नगाड़ा बजाते हुए भंगड़ा डाला था। किसान आज फसलों के न्यूतनम समर्थन मूल्य न मिलने पर निढ़ाल होकर खून के आंसू रोने पर मजबूर है, उसकी कोई सुनने वाला नहीं है और भाजपाई किसानों की आवाज को अनसुना करके अपने आप को चौकीदार होने का झूठा ढोंग करते घूम रहे हैं। सांसद ने कहा कि भाजपा के राज में धरातल पर कोई काम न हुआ और भाजपाई ड्रामा करने, दिखावा करने और नौटंकी करने में कहीं भी पीछे नहीं रहते।
दुष्यंत ने प्रधानमंत्री फसल बीमा पर सवाल उठाते हुए कहा कि भाजपा के शासनकाल में किसानों को अपना हक लेने के लिए महीनों तक धरनों पर बैठना पड़ा और भाटोल-खरकड़ा आदि गांवों के सैंकड़ों किसानों को बर्बाद हुई फसल का मुआवजा दिलवाने के लिए उन्हें लोकसभा में आवाज उठानी पड़ी।
सांसद दुष्यंत ने कहा कि भाजपा ने पिछले चुनावों में विदेशों से काला धन वापस लाने, प्रति वर्ष दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने, स्वामीनाथन आयोग की रिर्पोट की सिफारिशें लागू करने, एसवाईएल नहर का निर्माण करने का वायदा किया था, पर अब कोई भी भाजपा नेता इन मुद्दों पर एक शब्द भी बोलने को तैयार नहीं है। इन मुद्दों का कहीं जिक्र न हो, जनता के जहन में ये मुद्दे न आएं इसी लिए भाजपा ने चौकीदार होने का ड्रामा शुरू किया।
सांसद दुष्यंत चौटाला ने लोकसभा चुनाव चुनाव की तैयारियों को लेकर कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे भाजपा को सबक सिखाने के लिए जेजेपी प्रत्याशी को विजयी बनाने के लिए कमर कस लें और दिन रात एक करके घर-घर जाकर पार्टी से लोगों को जोडऩे का काम करे। उन्होंने कहा कि जननायक चौ. देवीलाल किसानों के सच्चे हितेषी थे और उन्होंने किसान,कमेरे और मजदूर वर्ग के लिए ताउम्र संघर्ष किया और सत्ता में आने पर उनके लिए कल्याणकारी नीतियां बनाई। उन्होंने कहा कि जेजेपी जननायक की नीतियों पर चलते हुए किसानों के हितों और उत्थान के लिए कृतसंकल्प है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *