शीशे गलती से टूटते हैं और रिश्ते गलतफहमियों से: दुष्यंत

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana

Jind

जेजेपी के संस्थापक सदस्य एवं हिसार के सांसद दुष्यंत चौटाला ने जींद के जिला कार्यालय में आयोजित एक संवाददाता स मेलन को संबोधित करते हुए पिछले 24घंटों से चल रहे प्रकरण पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि यह जींद उपचुनाव को मु य मुद्दे से भटकाने की एक साजिश मात्र है। उन्होंने कहा कि मै चौधरी ओम प्रकाश चौटाला और अपनी दादी के विषय में एक शब्द भी नहीं कहना चाहूंगा। हां इतना अवश्य कहूंगा कि शीशे गलती से टूटते हैं और रिश्ते गलतफहमियों से। उन्होंने कहा कि चौधरी ओम प्रकाश चौटाला मेरे दादा हैं और मेरा उनसे खून का रिश्ता है। खून के रिश्ते बातों से नहीं टूटते। उन्होंने चौधरी देवीलाल और ओमप्रकाश चौटाला के रिश्तों का जिक्र करते हुए कहा कि एक बार तो देवी लाल ने भी चौधरी ओम प्रकाश चौटाला से नाराज हो कर उनसे अपने सारे रिश्ते तोड़ लिए थे। लेकिन जनता के अपार स्नेह एवं समर्थन की बदौलत चौ. ओम प्रकाश चौटाला एक बार फिर से चौधरी देवी लाल के प्रिय हो गए थे। दादी से संबंधित पूछे गए सवालों पर उन्होंने कहा कि मै अपनी दादी का बहुत स मान करता हूं मै उनके बारे में एक शब्द भी बोलना नहीं पसन्द करुंगा।
उन्होंने कहा कि दरअसल धर्म एवं जाति के नाम पर लोगों को बांटने की राजनीति करने वाली भाजपा और मुद्दाविहीन हो चुकी कांग्रेस के साथ ही साथ जींद में 25000 से ाी ज्यादा वोट अपनी जेब में रखने वाले इनेलो बसपा गठबंधन को जेजेपी की दिन-प्रतिदिन बढ़ती लोकप्रियता एवं दिग्विजय चौटाला की जीत सुनिश्चित देख कर अपनी जमीन खिसकती नजर आ रही है। यही कारण है कि सब मिल कर इनेलो प्रत्याशी के खिलाफ साजिश रचने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव की इस लोकतांत्रिक प्रक्रिया में उ मीदवारों को क्षेत्र एवं जनता से जुड़ी बातें करनी चाहिए। लेकिन यह बड़े दुख की बात है कि आज इन लोगों ने अपना स्तर इतना गिरा लिया है कि चुनाव के दौरान लोगों के घर परिवार की बातें करने लगे हैं।
उन्होंने कहा कि चाहे कांग्रेस के दस वर्ष के कार्यकाल की बात की जाए या फिर भाजपा के साढ़े चार वर्ष की। इन दोनो ही दलों ने अपने कार्यकाल के दौरान जींद के लिए कुछ भी नहीं किया। यदि आप जींद शहर में चारों तरफ घूम कर देखेंगे तो आप को स्वयं यह नजर आ जाएगा कि इन्होंने जींद के साथ किस कदर सौतेला व्यवहार किया है। चाहे वो बिजली-पानी, सीवर सड़क जैसी मूलभूत सुविधाओं की बात हो या फिर शिक्षा एवं स्वास्थ्य से संबंधित मुद्दे। आधारभूत संरचना के विकास की बात हो या फिर जींद के युवाओं को रोजगार प्रदान करने की। इन सभी मुददें को जेजेपी प्रत्याशी द्वारा इतने जोर शोर से उठाया गया कि विरोधी दलों के होश ही उड़ गए। क्षेत्र में दिन प्रतिदिन जेजेपी प्रत्याशी दिग्विजय चौटाला की बढ़ती लोकप्रियता एवं जींद के इस उपचुनाव में उनकी जीत सुनिश्चित देख कर विरोधी इतनी ओछी हरकतों पर उतर आएंगे, इसकी मैने कल्पना भी नहीं की थी। उन्होंने कहा कि आज इन विरोधी दलों के लेागों का ध्यान अपने प्रत्याशी को विजयी बनाने से ज्यादा दिग्विजय को रोकने पर लगा हुआ है। हालात का अनुमान इस बात से भी लगा सकते हैं इनेलो बसपा गठबंधन तो दिग्विजय की जीत सुनिश्चित देख कर इस कदर बौखला चुका है कि वह दिग्विजय को रोकने के लिए भाजपा को समर्थन देने पर भी विचार कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *