मनोहर सरकार के हवाई जहाज के सपने, गरीब की सवारी को कर रहे बंद- दुष्यंत चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 20 Oct, 2018

इनेलो संसदीय दल के नेता व हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने पिछले पांच दिनों से रोडवेज कर्मचारियों की मांगो का समर्थन करते हुए सरकार के दावों की पोल खोलते हुए इस हड़ताल को सरकार की हठधर्मिता बताया है। युवा सांसद दुष्यंत चौटाला ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि सरकार को अपना अड़ियल रवैया छोड़कर प्रदेश की जनता की चिंता करते हुए कर्मचारियों की जायज मांगे मान लेनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार जब से प्रदेश में सत्तासीन हुई है तब से हर वर्ग को इसने तंग व परेशान रखा है। कर्मचारी पिछले काफी समय से परिवहन बेड़े में नई बसे शामिल करने की मांग सरकार से करते आ रहे है और परिवहन मंत्री सरकार की तरफ से लगातार उनको आश्वासन देते रहे। परन्तु धरातल पर सरकार की तरफ से इस सम्बंध में कोई सकारात्मक कदम नही उठाया गया बल्कि इसके विपरीत सरकार ने अब नोटिफिकेशन जारी करके 720 निजी बसे निजी ट्रांसपोर्टर से प्रति किलोमीटर के हिसाब से चलवाने का प्रयास कर रही है।

सरकार के द्वारा सैंकड़ो बसें रोडवेज को देने के दावे फेल हो चुके है। इससे कर्मचारियों में जबरदस्त रोष है क्यों कि सरकार की तरफ से रोजगार तो पहले ही नही दिए जा रहे रोडवेज बेड़े में निजी बसें शामिल किए जाने के इस नोटिफिकेशन के लागू होने के बाद तो रोडवेज में नई भर्ती के रास्ते भी बन्द हो जाएंगे। निजीकरण के खिलाफ सांसद चौटाला ने रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल को जायज ठहराते हुए कहा कि हरियाणा रोडवेज में किसी प्रकार का कोई घाटा नही है फिर भी सरकार निजी करण पर उतारू है तो जरूर इसके पीछे सरकार की मंशा इसके माध्यम से अपने चहेतों को फायदा पहुंचाने की होगी।

पहली बार ऐसा हो रहा है कि रोडवेज कर्मचारी अपने हितो की बजाए प्रदेश के हितों की रक्षा के लिये हड़ताल किये हुए है । उन्होंने सरकार से अपनी दमनकारी नीति छोड़कर इस नोटीकेशन को तुरंत प्रभाव से वापिस लेने की मांग की है ताकि आमजन को इस हड़ताल से होने वाली दिक्कतों से छुटकारा मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *