बीजेपी के “संपर्क फॉर समर्थन” के तहत दुष्यंत चौटाला के पास भी आया था फोन – दिग्विजय चौटाला

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Suren Sawant, Yuva Haryana
Sirsa, 09 July, 2018

बीजेपी देशभर में आगामी लोकसभा चुनाव जीतने के लिए जी जान से जुटी हुई है। और इसी कड़ी में बीजेपी ने “संपर्क फॉर समर्थन” कार्यक्रम शुरु किया है जिसके तहत बुद्धिजीवियों और अन्य लोगों से बीजेपी के नेता मिल रहे हैं और उनसे समर्थन मांग रहे हैं।

अब इस संपर्क अभियान को लेकर इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने खुलासा करते हुए बताया कि इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला के पास भी इनका “संपर्क फॉर समर्थन” के लिए फोन आया था और मिलने के लिए समय मांगा था।

सिरसा के नेशनल कॉलेज में इनसो के स्थापना दिवस का निमंत्रण देने पहुंचे इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने कहा कि 5 अगस्त को कैथल में इनसो के स्थापना दिवस को छात्र अधिकार दिवस के रूप में मनाएंगे।

दिग्विजय ने कहा कि बीजेपी सरकार ने छात्र संघ के चुनावो की बहाली को लेकर जो वायदा किया था अब उस से मुकर रही है,इसलिए आज छात्रों के बीच उनका साथ मांगने आये हैं और 5 अगस्त को कैथल में इनसो के स्थापना को छात्र अधिकार दिवस के रूप में मनाएगे और अगर सरकार 5 अगस्त तक छात्र संघ चुनावों पर कोई फैसला नहीं लेती उस दिन वो कोई बड़ा फैसला लेंगे।

दिग्विजय ने कहा कि इसी बात के लिए वो पूरे प्रदेश का दौरा कर रहे हैं जिसकी शुरुआत उन्होंने आज सिरसा से की है और वो छात्रों के बीच जायेंगे और उनकी राय लेंगे और उसी के आधार पर बड़ा फैसला लिया जाएगा।

प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर द्वारा चाय पर चर्चा कार्यक्रमों पर तंज़ कसते हुए दिग्विजय ने कहा कि लोग जनसभाओं में तो अब इक्कट्ठे हो नहीं रहे इस लिए वो चाय पे जाने लायक ही रह गए हैं। वहीं उन्होंने कहा कि अब जो “संपर्क फॉर समर्थन” कार्यक्रम चला रखा है उसके लिए लोगों को कह कह के चाय पे जाने की बात करते हैं जिसके लिए दुष्यंत चौटाला को भी फोन करके कहा गया कि उनके साथ भी चाय पीना चाहते हैं।
वही दुष्यंत द्वारा अनिल विज को लीगल नोटिस दिए जाने पर दिग्विजय ने कहा कि अब कोर्ट ही इस बात का फैसला करेगा कि सिरसा के लोग नशेड़ी हैं या फिर एक जिम्मेदार व्यक्ति का इस तरह ब्यान देना सही है। इस बात के लिए आखिर में अनिल विज को माफ़ी मांगनी ही पड़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *