60 दिन में 600 दिनों जितनी मेहनत करेगी जेजेपी- दुष्यंत

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

जननायक जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए छठे चरण में मतदान घोषित किए जाने का स्वागत किया है। सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि चुनाव आयोग ने 12 मई को हरियाणा में वोटिंग करवाने के सही फैसला लिया है क्योंकि तब तक किसान गेहूं समेत रबी की फसलों की कटाई आदि का काम पूरा कर चुके होंगे। विशेषकर गेहूं की खेती करने वाले किसान कटाई, ढुलाई और उसके बाद तूड़ी आदि से जुड़ा काम 10 मई तक पूरा कर लेते हैं, और वे 12 मई को भारी संख्या में मतदान कर पाएंगे। साथ ही युवा छात्र भी परीक्षाओं से फारिख हो जाएंगे तो वे लोकतंत्र के इस उत्सव में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले पाएंगे।
सांसद ने कहा कि जेजेपी के लिए दो महीने का वक्त मिलने बहुत फायदे की बात है क्योंकि इन 60 दिनों में पार्टी कार्यकर्ता 600 दिनों जितनी मेहनत करेंगे। उन्होंने हरियाणा के लोगों से आग्रह किया कि वे इस बात को महत्व दें कि उनके हितों को उठाने के लिए उनके बीच कौनसी पार्टी के नेता सबसे ज्यादा रहते हैं और वोट मांगने के लिए भी सबसे पहले और ज्यादा बार कौन आता है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उनकी पार्टी का संगठन तैयार है और हम एक-एक मतदाता तक पहुंचकर उनसे सेवा करने का अवसर मांगेंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा के लोग सिर्फ देश की सरकार बनाने के लिए मतदान नहीं करेंगे, वे यह भी देखेंगे कि उनका सांसद कौन बन रहा है। दुष्यंत ने कहा कि उन्होंने 5 सालों में अपने लोकसभा क्षेत्र हिसार के लिए जी-जान से मेहनत की है और ऐसे काम किए हैं जो सत्तासीन पार्टी के सांसद भी नहीं कर पाए। उन्होंने कहा कि जेजेपी ऐसे उम्मीदवार उतारेगी जो दिन-रात मेहनत करने का जज्बा रखते होंगे।
दुष्यंत चौटाला ने यह भी कहा कि आखिरकार चुनाव की घोषणा हो गई लेकिन हरियाणा सरकार की नींद नहीं खुली कि वह कर्मचारियों के लिए 7वें वेतन आयोग की सिफारिशों के हिसाब से एचआरए की घोषणा कर देती। दुष्यंत ने कहा कि बीते 20 दिनों में हरियाणा सरकार ने आननफानन में बिल्डरों को फायदा पहुंचाने वाले कई फैसले ले लिए लेकिन 3 लाख कर्मचारियों के परिवारों की जायज और लंबित मांग को पूरा करने का वक्त हरियाणा की सरकार को नहीं मिला। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हर महीने कर्मचारियों का 150 करोड़ रुपये दबा रही है और चुनाव घोषित होने से यह तय हो गया अगले 3-4 महीने और उन्हें नई दरों पर एचआरए नहीं मिलने वाला। दुष्यंत चौटाला ने इस स्थिति के लिए हरियाणा सरकार की कड़ी आलोचना की।
दुष्यंत चौटाला ने शनिवार को उनकी मांग पर चुनाव आयोग की ओर से जारी पत्र पर भी संतोष जताया जिसमें राजनीतिक दलों को चुनाव प्रचार में सेना और सैनिकों की तस्वीरों का इस्तेमाल ना करने का सख्त आदेश दिया गया है। दुष्यंत चौटाला ने इसके लिए चुनाव आयोग को धन्यवाद दिया और कहा कि यह अब प्रशासनिक अधिकारियों और चुनाव पर्यवेक्षकों की जिम्मेदारी है कि नियमों का उल्लंगन करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *