सीएम ने बिजली के दाम कम करने के दिये संकेत, घाटे से उबर रही बिजली कंपनियां

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Ajay Mehta, Yuva Haryana
Fatehabad, 06 July, 2018
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर आज अपने ‘कनेक्ट टू पीपल्स’ के अभियान के तहत फतेहाबाद के दौरे पर रहे इस दौरान उन्होंने जिले के आधा दर्जन से अधिक गांवों का दौरा किया और लोगों से मिले। गांव फुलां में फतेहाबाद भाजपा जिलाध्यक्ष के निवास स्थान पर उपस्थित लोगों को संबोधित भी किया।
कार्यक्रम के उपरांत फतेहाबाद रेस्ट हाऊस में मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार बिजली दरों में कमी करने पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि बिजली निगम के दोनों विंग उत्तरी हरियाणा बिजली वितरण निगम और दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम प्रदेश सरकार के प्रयासों के फलस्वरूप पहली बार घाटे से उभरे हैं, तो इसका फायदा उपभोक्ताओं को भी दिया जाएगा।
इसके लिए सरकार की ओर एचसीआरसी को प्रपोजल भेजा जाएगा जिसमें मूल्याकन किया जाएगा कि किस श्रेणी को कितना लाभ दिया जाना चाहिए। वहीं क्षेत्र में नशे की रोकथाम के सवाल पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि सरकार और पुलिस अपने पूरे प्रयास कर रही है कि हरियाणा में कहीं भी नशे की तस्करी न हो सके, अगर आवश्यक हुआ तो इसकी रोकथाम के लिए स्पेशल फोर्स का भी गठन किया जा सकता है।
उन्होंने कहा कि जल संरक्षण पर बोलते हुए कहा कि वर्षा के जल को किस प्रकार से संरक्षित किया जाए इसके लिए सरकार प्रयास कर रही है और इसकी तहत यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि 500 गज से ऊपर के प्लाट, सरकारी अथवा निजी क्षेत्र की इमारतों में रेन वॉटर हारवेसटिंग लगे हों वहीं उनहोंने कहा कि सरकार की योजना है कि 15 अगस्त से पूर्व तक सभी सरकारी इमारतों में एलईडी लाईटें लगाए जा सके इसके लिए प्रयास चल रहे हैं।
इससे पूर्व गांव फूलां में भाजपा जिलाध्यक्ष वेद फूलां के निवास पर उपस्थित जन समूह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश की सरकार ने जय जवान जय किसान के नारे को पूरी तरह से चरितार्थ किया है। सैनिकों की चीर लंबित वन रैंक वन पैंशन की मांग को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लागू कर सैनिकों को लाभ पहुंचाया है, वहीं हाल ही में केंद्र सरकार ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के अनुसार फसलों के दाम में 50 से 96 प्रतिशत बढ़ोतरी कर किसानों को एक बड़ी सौगात दी है। इस निर्णय से न केवल किसान बल्कि व्यापारी, उद्योग, मजदूर सहित समाज के सभी वर्गों को लाभ होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *