40 पैसे प्रति यूनिट सस्ती हो सकती है बिजली, गुरुग्राम में विभाग ने बनाया है यह प्लान

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा
Mannu Mehta, Yuva Haryana
Gurugram, 22 June, 2018
गुरुग्राम में आने वाले दिनों में बिजली सस्ते हो सकते है. डीएचबीवीएन की पिछले सालों के आंकड़ों पर नजर डाले तो विभाग को लॉस में काफी कमी आई है. जिसके चलते विभाग ने बिजली की दरों में कमी लाने की योजना बनाई जा रही है. इन दरों को जल्द कम हो सकती है।
गुरुग्राम में पिछले कुछ सालों में बात की जाये तो बिजली चोरी रोकने में विभाग काफी हद तक कामयाब रहा है. और यही कारण है कि गुरुग्राम में बिजली लॉस भी विभाग को कम हुआ है इसी के चलते विभाग ने पिछले साल ही 87 पैसे प्रति यूनिट दरों में कमी की थी. अब विभाग ने एक ही महीने में 3 करोड़ रुपए की बिजली चोरी पकड़ी है और बिजली लॉस को कम किया है. जिसके चलते विभाग ने अब 40 पैसे प्रति यूनिट पर कम करने के लिए योजना बनाई है. इन दरों क जल्द कम कर दिया जायेगा ।
गुरुग्राम सर्कल के अंतर्गत बिजली के कुल 3.73 लाख उपभोक्ता हैं, जिसके ऊपर 3779 हजार किलोवाट का लोड है. दरअसल, सोहना पलवल सर्कल के अंतर्गत आता है. सोहना में 28 हजार उपभोक्ता हैं, इसको लेकर पूरे जिले में कुल 4 लाख उपभोक्ता हैं.।
गुरुग्राम  सर्कल के तहत बिजली वितरण में 12500 डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर लगे हैं. यहां 11 केवी के कुल 736 फीडर से बिजलीसप्लाई हो रही है. इसी के चलते अब विभाग ने स्मार्ट ग्रीड से शहर में 24 घंटे बिजली देने का प्रयास किया है. जिसमें से ग्रामीणोँ इलाकों में भी विभाग 16 से 18 घंटे बिजली दे पा रहा है. कुछ इलाकों में बिजली 20 घंटे से भी ज्यादा दे पा रहा है ।

घरेलू – 
51-100 यूनिट के लिए – 4 रुपए 50 पैसे 
150-250 यूनिट के लिए- 5 रुपए 25 पैसे 
500-800 यूनिट के लिए – 7 रुपए 10 पैसे 
 
नॉन डोमोस्टिक- 
20 केवी- 50 केवी के लिए- 6 रुपए 60 पैसे 
 
एलटी इंडस्ट्री (एनएस) 
10-20 केवी – 6 रुपए 65 पैसे
गुरुग्राम डीएचबीवीएन की तरफ से इसी बात को ध्यान में रखते हुए अब बिजली की दरों में कमी लाने की योजना बनाई है और लोगों से भी अपील कि है कि यदि लोग बिजली की चोरी करना छोड़ दे तो बिजली की दरों को और भी कम किया जा सकता है. विभाग को ज्यादा लॉस होगा तो दरे  बढ़ेंगी और लॉस कम होगा तो बिजली की दरों को कम किया सकता है. जिससे बिजली सस्ती होगी तो लोगों को ही फायदा होगा. इसके लिए लोगों को विभाग का भी सहयोग करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *