ठेके पर लगे कर्मचारियों को तीन माह से नहीं मिला वेतन, अफसरों के पास चक्कर काटने को मजबूर कर्मचारी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा
Younus Alvi, Yuva Haryana
Mewat, 24 May, 2018
मेवात के मांडीखेडा स्थित अल-आफिया अस्पातल में ठेके पर लगे कर्मचारियों का शोषण बादस्तूर जारी है जहां हाल ही में 127 एसएचआई कर्मचारियों को बिना नोटिस के हटा दिया गया वहीं एडिशनल स्पोर्ट सर्विस के तहत ठेके पर लगे दो दर्जन कर्मचारियों को तीन महीने क वेतन नहीं दिया गया है।
 कर्मचारियों का कहना है कि जब उन्होने अधिकारियों से तीन महिने का वेतन मांगा तो उनको नोकरी से ही यह कहकर हटा दिया कि आपका ठेका 31 जनवरी को समाप्त हो गया है। इसलिए तुम्हारा वेतन नहीं दिया जा सकता। जब स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के पास अपनी समस्या लेकर जाते हैं तो वे उनकी समस्या का समाधान करने की बजाए अफसर कहते है कोई और काम करलो यहां पर तुम्हारे लिए कोई जगह नहीं है। कर्मचारियों का कहना है कि अपनी मांगों के लिए वे पिछले 45 दिन से अधिकारियों के दफतरों के चक्कर काट रहे हैं।
कर्मचारी मोहम्मद लियाकत गांव मालब, नरेश शर्मा, नसीम कटारिया, तालीम खान, इफ्तिकार आलम, सूंदर सिंह, इरफान खान, आरिफ खान ने बताया कि एडिशनल स्पोर्ट सर्विस के ठेके के तहत मांडीखेडा के अल-आफिया अस्पातल में वर्ष 2012 से हेल्थ सिनेटरी इंस्पेक्टर (एचएसआई) के 115 कर्मचारी काम कर रहे हैं। जिनमे से काफी कर्मचारियों की सैलरी तीन महिने से वेतन नहीं मिल रहा है। हेल्थ सिनेटरी इंस्पेक्टर के तहत कंप्यूटर ऑपरेटर, इलेक्ट्रीशियन,  हेल्पर, पलम्बर और एक उसका हेल्पर, एक कारपेंटर व उसका उसका हेल्पर, चिनाई मिस्त्री व सफाई कर्मचारी शामिल हैं।
 उन्होने बताया कि उनको यह कहकर हटा दिया था कि उनका ठेका 31 जनवरी को खत्म हो गया है। कर्मचारियों का कहना है कि जब उनका ठेका 31 जनवरी को ही खत्म हो गया था तो उनसे आगे तीन महिने काम क्यों कराया गया। अब उनको बिना किसी नोटिस के हटा दिया गया है। कर्मचारियों का कहना है कि वे एसएमओ, सीएमओ और डीसी से अपनी गुहार लगा चुके हैं लेकिन कोई सुनने वाला नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *