Haryana में अलग से बनेगा रोजगार विभाग, युवाओं को नौकरियों की मिलेगी जानकारी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें रोजगार हरियाणा हरियाणा विशेष

Sahab Ram, Yuva Haryana

हरियाणा में भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार प्रदेश में अलग से रोजगार विभाग का गठन करेगी। इस विभाग का मुख्य उद्देश्य युवाओं को सरकारी के साथ-साथ प्राइवेट सेक्टर में रोजगार मुहैया करवाना होगा। यही नहीं, यह विभाग स्वरोजगार की योजनाएं भी युवाओं के लिए तैयार करेगा ताकि वे अपने पैरों पर खड़ा हो सकें। दोनों ही पार्टियों – भाजपा व जजपा ने अपने चुनाव घोषणा-पत्रों में इस विभाग को गठित करने का वादा किया था

प्रदेश के गृहमंत्री अनिज विज की अध्यक्षता में बनाई गई पांच सदस्यीय कॉमन मिनिमम प्रोग्राम कमेटी (सीएमपीसी) भी इस वादे को पूरा करने की सहमति दे चुकी है। यह वादा उन 33 बिंदुओं में शुमार है, जो दोनों ही पार्टियों की ओर से किए गए थे और इन पर कमेटी मुहर लगा चुकी है। इस बाबत कमेटी की ओर से सीएम मनोहर लाल खट्टर और उपमुख्मंत्री दुष्यंत सिंह चौटाला को रिपोर्ट सौंपी जा चुकी है

साथ ही, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद और एडवोकेट जनरल बलदेव राज महाजन को भी दोनों पार्टियों के एक समान 33 वादों की सूची बनाकर दी गई है। वित्त विभाग से कहा गया है कि वह विभागवार इन बिंदुओं पर रिपोर्ट तैयार करे। इसके अलावा इन वादों को पूरा करने में आने वाली वित्तीय लागत का ब्योरा भी देने को कहा गया है। इसी तरह से एडवोकेट जनरल को इन वादों को पूरा करने में आने वाली कानूनी अड़चनों को दूर करने का तरीका निकालने को कहा गया है।

वर्तमान में प्रदेश में ‘श्रम एवं रोजगार’ विभाग है। बताते हैं कि इसे अलग करके रोजगार विभाग अलग से बनेगा। प्रदेशभर के सभी रोजगार कार्यालय इसके अधीन आएंगे। इसी तरह से उद्योग एवं वाणिज्य विभाग की कुछ विंग भी इसके साथ कनेक्ट होंगी, जो सीधे तौर पर युवाओं को रोजगार के अवसर मुहैया करवाने का काम करती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *