बेरोजगारों के लिए स्वरोजगार का मौका, भूमि परीक्षण प्रयोगशालाओं में अपनाएं भाग्य

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें रोजगार सरकार-प्रशासन हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 24 June, 2018

हरियाणा कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा भूमि स्वास्थय प्रबन्धन स्कीम के तहत गांव में भूमि परीक्षण परियोजना का आरम्भ किया जएगा जिसकी लागत 5 लाख रुपये तक की होगी व उसमें केन्द्र सरकार व हरियाणा सरकार द्वारा सम्बन्धित लाभार्थियों को 75 प्रतिशत तक का अनुदान दिया जायेगा और लागत का 25 प्रतिशत लाभार्थियो द्वारा वहन किया जाएगा।

इस संबंध में जानकारी देते हुए विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि यमुनानगर जिला को इस तरह की 3 परीक्षण प्रयोगशालाएं स्थापित करने का लक्ष्य दिया गया है। लाभार्थियों का चुनाव व स्कीम की देख-रेख जिला स्तरीय कार्यकारी समिति द्वारा किया जाएगा।

इस स्कीम के तहत गांव स्तरीय भूमि परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए विभिन्न योग्यतांए होना अनिवार्य है जिसके तहत लाभार्थियों की उम्र 18 से 27 वर्ष होनी चाहिए, सांसद आदर्श ग्राम योजना में चयनित गांवों को इस योजना में प्राथमिकता दी जाएगी, लाभार्थी कम से कम द्वितिय श्रेणी में विज्ञान विषय के साथ दसवीं पास होना चाहिए, लाभार्थी को कम्पयूटर का ज्ञान होना चाहिए, लाभार्थी के पास अपना पैन कार्ड व आधार कार्ड होना चाहिए तथा लाभार्थी के पास गांव स्तरीय भूमि परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित करने के लिए स्वयं की जमीन होनी चाहिए अथवा कम से कम 4 वर्ष के लिए भूमि पटटे पर ली गई हो। उपरोक्त योग्यता रखने वाले उम्मीदवार 25 जून 2018 तक अपना आवेदन संबंधित उप कृषि निदेशक के कार्यालय में जमा करवा सकते है ।

उन्होंने बताया कि यह स्कीम गांव के बेरोजगार युवकों के लिए वरदान साबित होगी साथ ही किसानों को उनके जमीन की स्वास्थ्य की रिपोर्ट जल्द व सही प्राप्त होगी, जिससे भूमि के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार होगा। साथ ही उन्होंने बताया कि उक्त स्कीम के तहत चयनित लाभार्थियो को सैम्पल लेने की विधि, सैम्पल जांच करने की विधि, सॉयल हैल्थ कार्ड छापने व उन्हें पोर्टल पर अपलोड करने के बारे विभाग द्वारा ट्रैनिंग दी जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *