चतुर्थ श्रेणी की नौकरियों में अब हर दसवां कर्मचारी खिलाड़ी होगा, खिलाड़ियों को अब 10% तक होरिजेंटल आरक्षण

Breaking सरकार-प्रशासन हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Chandigarh (7 April 2018)

खेलों को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा में अब सरकारी नौकरियों में खिलाड़ियों को ज्यादा अहमियत दी जाएगी। चतुर्थ श्रेणी पदों पर खिलाड़ियों को अब 10% तक होरिजेंटल आरक्षण दिया जाएगा। वहीं, ग्रुप ए, बी और सी कैटेगरी की भर्तियों में राष्ट्रीय स्तरीय खिलाड़ियों को 3% होरिजेंटल आरक्षण मिलेगा।

सरकारी, सार्वजनिक क्षेत्र में होने वाली सीधी भर्ती में खिलाडिय़ों को इसका लाभ दिया जाएगा। अभी तक सभी श्रेणियों में खिलाडिय़ों को 3% कोटा दिया जा रहा था। नए नियमों को लेकर सभी प्रधान सचिवों, विभागाध्यक्ष, हाईकोर्ट और विश्वविद्यालयों के रजिस्ट्रार, उपायुक्त, एसडीएम और बोर्ड-निगमों के प्रबंध निदेशकों को आदेश जारी कर दिए हैं। खिलाडिय़ों को पहले जहां आउट स्टैंडिंग स्पोट्रस पर्सन की श्रेणी में नौकरियां दी जा रहीं थी, वहीं अब इसका नाम बदल कर ऐलिजिबल स्पोट्रस पर्सन किया गया है।

आदेशों के मुताबिक कोटे के तहत आवेदन करने वाले खिलाड़ी के लिए हरियाणा की ओर से राष्ट्रीय स्तर पर खेलना अनिवार्य है। सभी श्रेणी की नौकरियों में खिलाड़ी की योग्यता अलग-अलग रखी गई है। अगर कोई आवेदक दिव्यांग और खिलाड़ी दोनों कोटे में जगह बनाने में कामयाब रहता है तो उसे दिव्यांग कोटे में ही एडजस्ट किया जाएगा।

होरिजेंटल आरक्षण का मतलब दूसरी श्रेणी के कोटे को छेड़छाड़ किए बगैर अलग से आरक्षण देना है। अगर किसी विभाग में 100 सीटों के लिए आवेदन मांगे गए हैं तो खिलाड़ी कोटे की सीटें अलग से निकाल दी जाएंगी। इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि किसी पद पर इस श्रेणी के तहत जितने लोग आवेदन करेंगे, उनकी योग्यता के मुताबिक सूची बनाई जाएगी। इसमें शीर्ष उम्मीदवारों को छांट लिया जाएगा और ये उम्मीदवार जिस कैटेगरी के होंगे, उस आरक्षण श्रेणी की सूची में सबसे नीचे की सीटों पर इन्हें एडजस्ट कर दिया जाएगा।

बता दें कि कैटेगिरी कुछ इस तरह से होगी

ग्रुप ए : ओलंपिक, वल्र्ड कप, एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेलों, अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप, वल्र्ड यूनिवर्सिटी खेलों में पदक विजेता खिलाड़ी इस वर्ग में आवेदन कर सकेंगे।

ग्रुप बी : ओलंपिक, वल्र्ड कप, एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेलों, अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप, वल्र्ड यूनिवर्सिटी, सैफ गेम्स और अंतरराष्ट्रीय या एक दिवसीय घरेलू क्रिकेट टेस्ट खेलने वाले खिलाड़ी इस वर्ग में आवेदन कर सकेंगे।

ग्रुप सी : गैर ओलंपिक खेलों के पदक विजेता खिलाड़ी इस वर्ग में आवेदन कर सकते हैं।

ग्रुप डी : राष्ट्रीय खेल, राष्ट्रीय स्कूल खेल, अखिल भारतीय अंतरविश्वविद्यालय खेल, अखिल भारतीय ग्रामीण खेलों के अलावा राज्य स्तरीय खेलों के पदक विजेता इस वर्ग में आरक्षण के हकदार होंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *