परीक्षाओं में ड्यूटी लगाने को लेकर सवालों में शिक्षा बोर्ड, हरियाणा स्कूल लेक्चर्स एसोसिएशन ने उठाए सवाल

Breaking हरियाणा

इन्द्रवेश दुहन,

भिवानी, (18 मार्च 2018)

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड एक बार फिर सवालों के घेरे में हैं। इस बार आरोप हरियाणा स्कूल लेक्चर्स एसोसिएशन ने लगाए हैं। हसला ने परीक्षाओं, फ्लाईंग और उत्तर पुस्तिकाओं के मुल्यांकन के लिए लगाई जा रही ड्यूटी को लेकर सवाल उठाए हैं और जल्द सुधार ना करने पर उत्तर पुस्तिकाओं के बहिष्कार की बड़ी चेतावनी दी है।

बता दें कि शिक्षा बोर्ड में भ्रष्टाचार और घोटालों के आरोप लगा कर खुद शिक्षा बोर्ड के कर्मचारी कई दिनों तक धरना दे चुके हैं। यही नहीं बोर्ड में भ्रष्टाचार और घोटालों को लेकर विपक्ष विधानसभा सत्र में सरकार को घेरने के भी प्रयास कर चुका है। जिसको लेकर सरकार ने जांच के आदेश देने पड़े। अब ये जांच शुरु होने से पहले हसला यानि हरियाणा स्कूल लेक्चर्रस एसोसिएशन ने बोर्ड की कार्यप्रणाली पर बड़ा सवाल उठाया है। भिवानी के राजकीय कन्या सीनियर सैकेंडरी स्कूल में आयोजित हसला की राज्य स्तरीय बैठक में बोर्ड की कार्यप्रणाली का मुद्दा उठा।

हसला के राज्य प्रधान दयानंद दलाल ने आरोप लगाया कि बोर्ड परीक्षाएं  हों, फ्लाईंग या फिर उत्तर पुस्तिकाओं का मुल्यांकन हो,  शिक्षा बोर्ड प्रशासन नियमों की अनदेखी कर ड्यूटी लगा रहा है। उन्होंने कहा कि नियमों की अनदेखी को लेकर उन्होंने बोर्ड प्रशासन को 5 मार्च को अवगत भी करवाया था, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। दलाल यहीं नहीं रूके, उन्होंने कहा कि ड्यूटी लगाने में बोर्ड मनमानी कर रहा है। उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी समस्या प्राईवेट स्कूलों के स्टाफ की ड्यूटी लगाना है, क्योंकि प्राईवेट स्कूलों का स्टाफ अपने स्कूलों के बच्चों को पास करवाने के लिए सारे नियम ताक पर रखता है।

हसला प्रदेश अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि प्राईवेट स्कूल स्टाफ की गलती और लापरवाही का सरकारी स्टाफ को भूगतान करना पङ़ता है। उन्होंने कहा कि ड्यूटी लगाने में अनुभव की भी अनदेखी की जा रही है। हसला का आरोप है बोर्ड प्रशासन नकल रोकने का केवल दिखावा कर रहा है। उन्होंने कहा कि नकल एक साथ नहीं, बल्कि पूरे साल अभियान चला कर जागरूकता से रूकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *