पक्के लेक्चरर के आने से नहीं जाएगी एक्सटेंशन लेक्चरर्स की नौकरी, आसपास एडजस्ट करने के आदेश

Breaking बड़ी ख़बरें युवा रोजगार सरकार-प्रशासन हरियाणा

हरियाणा सरकार ने निर्देश दिए हैं कि यदि किसी सरकारी कॉलेज में कोई एक्सटेंशन लेक्चरर किसी स्थाई लेक्चरर के तबादले या प्रतिनियुक्ति के कारण विस्थापित होता है तो संबंधित प्रधानाचार्य द्वारा उसे प्रासंगिक स्थानांतरण के कारण रिक्त हुई सीट या वर्कलोड के विरूद्घ समायोजित किया जाएगा।
ऐसे एक्सटेंशन लेक्चरर निदेशालय में जाए बिना अपनी पसंद के किसी अन्य निकटतम कॉलेज मेें संपर्क कर सकते हैं और वहां समायोजित हो सकते हैं।
अगर एक से अधिक एक्सटेंशन लेक्चरर एक ही कॉलेज में सम्पर्क करते हैं तो उस लेक्चरर को पहले एडजस्ट किया जाएगा जिसकी नौकरी ज्यादा समय की हो चुकी हो। सेवा अवधि निर्धारित करने के लिए संबंधित प्रधानाचार्य द्वारा जारी अनुभव संबंधी पत्रों पर विचार किया जाएगा। यदि ऐसे दो व्यक्तियों की सेवा अवधि समान है तो आयु में बड़े को पहले समायोजित किया जाएगा। विस्थापित एक्सटेंशन लेक्चरर्स को परीक्षा एवं अवकाश अवधि के दौरान भी समायोजित किया जा सकता है।
स्नातकोत्तर कक्षाओं को नियमित लेक्चरर्स द्वारा ही पढ़ाया जाएगा और नियमित स्टाफ की कमी होने पर पात्र एक्सटेंशन लेक्चरर को राज्य एवं यूजीसी दिशानिर्देशों के अनुसार स्नातक एवं स्नातकोत्तर कक्षाओं, दोनों को पढ़ाने की अनुमति दी जा सकती है। ‘लास्ट इन फर्स्ट गो’ फॉर्मुले के तहत, किसी विषय में एक्सटेंशन लेक्चरर की वरिष्ठता उनकी निरंतर सेवा अवधि की तिथि से गिनी जाएगी।
इसके साथ ही सभी एक्सटेंशन लेक्चरर्स को निर्देश दिये गए हैं कि वे धरनों, सडक़ अवरोधों और वरिष्ठ पदाधिकारियों के घेराव जैसे कार्यों में शामिल न हों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *