प्रदेश में चरमराई सफाई व्यवस्था- कहीं कूड़े के ढेर, तो कहीं गंदगी से बंद पड़ी नालियां

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Suman Kashyap, Yuva Haryana

Haryana, 12-05-2018

हरियाणा में नगर परिषद के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल चौथे दिन भी जारी है। लेकिन इन कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से प्रदेश की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है।

हर जगह कूड़े के ढेर पड़े हैं। गलियों में भी गंदगी के ढेर लगने लगे हैं। शहर का कोई ऐसा कोना नहीं बचा है, जहां कूड़े के ढेर न हो। लेकिन मांगे न माने जाने पर गुस्साए सफाई कर्मचारी तस से मस नहीं हो रहे।

अब गंदगी के चलते लोगों को बीमारियों का डर सताने लगा है। बात करें कैथल जिले की तो, यहां  कर्मचारियों की हड़ताल के चलते हर तरफ गंदगी ही गंदगी दिखाई दे रही है। जिला कैथल प्रशासन ने जब कूड़ा उठवाना चाहा, तो सफाई कर्मचारियों ने मौके पर पहुंचकर कूड़ा वापिस गिरवा दिया।

इसके बाद कर्मचारियों ने रोड जाम कर दिया और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वहीं सिरसा और फतेहाबाद में भी स्थिति कुछ ऐसी ही रही। सिरसा में गुस्साए कर्मचारियों ने धरना देकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और सुर्खाब चौक पर सरकार का पुतला भी फूंका।

सफाई कर्मचारियों की हड़ताल से हर तरफ गंदगी का आलम है। अब लोगों ने परेशान होकर सरकार से इस समस्या के समाधान की मांग की है। इसके अलावा फतेहाबाद में सरकार के प्रति कर्मचारियों का गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है।

सफाई कर्मचारियों ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार ने सत्ता में आने से पहले ठेका प्रथा को खत्म करने के साथ कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की बात कही थी, लेकिन सत्ता में आने के बाद सरकार कर्मचारियों को हटाने पर लगी हुई है। कर्मचारियों की मांग है कि कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए, समान काम का समान वेतन दिया जाए।

कर्मचारियों ने सरकार को चुनौती  देते हुए कहा है कि जब तक उनकी मांगे नहीं मानी जाती, हड़ताल जारी रहेगी। आने वाले समय में सभी सफाई कर्मचारी उग्र आंदोलन करेंगे, जिसकी जिम्मेदार सरकार होगी।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *