तीन पुलिसकर्मियों पर लगा आरोप, महिला से कोरे कागजों पर अंगूठा लगवाकर बनाया झूठा केस

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Kalayat, 16 July, 2018

लोग जिन्हें अपना रक्षक मानते है अक्सर वो ही भक्षक बनकर कुछ ऐसा कर देते हैं, जिससे लोगों का विश्वास टूट जाता है।

गांव हरिपुरा निवासी एक महिला ने आरोप लगाया है कि कलायत पुलिस के तीन कर्मचारियों ने उससे कोरे कागजों पर अंगूठा लगवाया था और एक वकील के खिलाफ उसकी बेटी के अपहरण का झूठा केस दर्ज कर दिया।

जब मामले ने तूल पकड़ा और लड़की ने कोर्ट में बयान दर्ज करवाए, तो पुलिस ने मामला कैंसल कर दिया। इस बारे में महिला ने पुलिस अधीक्षक को एक शिकायत देकर एसआई ललित मोहन (तत्कालीन एसएचओ कलायत), एएसआई शमशेर सिंह और हैड कांस्टेबल कुलबीर सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

शिकायत में कहा गया है कि बीते 11 जून को महिला की बेटी अचानक रात के समय घर से गायब हो गई थी। इस बारे में परिजनों ने काफी तलाश की, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। वह इस बारे में थाना कलायत में गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाने गई, तो तीन पुलिसकर्मियों ने उसके कुछ कोरे कागजों पर अंगूठा लगवा लिया और कहा कि हम आपकी रिपोर्ट लिख देंगे।

इसके तीन चार दिन बाद पता चला कि उपरोक्त पुलिस कर्मियों ने गांव हरिपुरा व मटोर के कुछ लोगों के साथ मिलकर एक वकील राजेन्द्र चहल के विरुद्ध अपहरण का दर्ज कर दिया। महिला का आरोप है कि पुलिस ने उसकी अनपढ़ता का फायदा उठाकर अंगूठे लगे कागजों के आधार पर झूठा केस दर्ज कर दिया और उसे कुछ नहीं बताया।

महिला ने कहा कि उसकी बेटी ने घर लौटने के बाद सारी बात बता दी और कहा कि राजेन्द्र वकील का इसमें कोई दोष नहीं है। कलायत पुलिस राजेन्द्र चहल वकील से रंजिश रखती है और किसी झूठे केस में फंसाना चाहती है। इससे पूर्व लड़की अदालत में भी अपना बयान दर्ज करवा चुकी है कि उसका किसी ने अपहरण नहीं किया था।

जब इस बारे में कलायत थाने के एसएचओ राम किशन से बात की गई, तो उन्होंने कहा कि लड़की द्वारा अदालत में बयान देने के बाद कलायत पुलिस ने एफआईआर कैंसल कर दी है। इस बीच एसआई ललित मोहन का कलायत से सदर थाना कैथल में तबादला कर दिया गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *