बहादुरगढ़ में नकली सिक्के बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़, मौके पर मिले लाखों रुपये के नकली सिक्के

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष
Pradeep Dhankhar, Yuva Haryana
Bahadurgarh, 20 May, 2019
बहादुरगढ़ में नकली सिक्के बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है। फैक्ट्री में चोरी छुपे पांच रुपए के सिक्के बनाए जा रहे थे। जिन्हें एक महिला की मदद से होटल, टोल और दूसरी जगहों पर सप्लाई किया जाता था। गणपति धाम में पिछले कई महीनों से नकली सिक्के बनाने का काम चल रहा था।
फरीदाबाद की क्राइम ब्रांच ने इस फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। क्राइम ब्रांच की टीम ने कल फरीदाबाद से तीन पुरुष और 1 महिला को ढाई लाख के नकली सिक्कों के साथ इनोवा कार से गिरफ्तार किया। यह सभी आरोपी फरीदाबाद में सिक्के सप्लाई करने के लिए गए हुए थे। पूछताछ में पता चला कि यह सिक्के बहादुरगढ़ के गणपति धाम में स्थित एक फैक्ट्री में बनाए जा रहे हैं और पिछले काफी लंबे समय से नकली सिक्के बनाने का काम यहां पर चल रहा था।
लाखों रुपए के नकली सिक्के अब तक आरोपी बाजार में दे चुके हैं। डीएसपी अजायब सिंह ने बताया कि चारों आरोपियों को फरीदाबाद क्राइम ब्रांच की पुलिस बहादुरगढ़ लेकर पहुंची है। साथ ही बहादुरगढ़ पुलिस पूरे मामले की जांच में फिलहाल जुटी हुई है।
बता दें कि बहादुरगढ़ के गणपति धाम में पकड़ी गई फैक्ट्री में 5 रुपये के नकली सिक्के बनाए जाने का काम जोरों से चल रहा था। ढाई लाख रुपए के सिक्के आरोपियों के कब्जे से बरामद हुए थे। वहीं करीब लाखों के नकली सिक्के फैक्ट्री के अंदर से भी बरामद किए गए। आरोपियों ने फैक्ट्री के अंदर मशीनें लगा रखी हैं, आरोपी लोहे की प्लेट को काटकर सिक्के बनाते थे और उस पर निकल पोलिस कर सिक्के का रंग देते थे। फिर डाई की मदद से सिक्का बनाया जाता था।
आरोपी चोरी छुपे एक महिला की मदद से हरियाणा और देश की राजधानी दिल्ली के कई हिस्सों में यह नकली सिक्के सप्लाई करने का काम करते थे। इतना ही नहीं होटल, टोल और ऐसे बाजार जहां पर 5 रुपये के सिक्के की जरूरत है। वहां यह सप्लाई किए जाते थे। यह आरोपी  इंडियन गवर्नमेंट  मिंट नोएडा की फर्जी पर्ची लगा कर इन सिक्कों को सप्लाई करते थे। ताकि किसी को  इनके नकली होने का शक ना हो  और आराम से  यह सिक्के बाजार में उतारे जा सके।
फर्जी सिक्के बनाने के लिए आरोपियों ने बहादुरगढ़ के गणपति धाम में  फैक्ट्री किराए पर ले रखी है। जहां पर यह धड़ल्ले से  काम कर रहे थे और ना जाने  कितने करोड रुपए के सिक्के अब तक बाजार में  भेज चुके होंगे। फिलहाल आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। जहां से रिमांड पर लेकर उनसे आगे पूछताछ की जाएगी। आरोपियों से पूछताछ में और भी कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद बनी हुई है। इतना ही नहीं जितने बड़े स्तर पर 5 रुपये के नकली सिक्के बनाने और उन्हें सप्लाई करने का काम किया जा रहा था।
उससे अंदेशा लगाया जा रहा है कि इस गिरोह के तार किसी बड़े राजनीतिक या आपराधिक लोगों से जुड़े हो सकते हैं। फरीदाबाद पुलिस पूरे मामले की गहनता से जांच कर रही है।लेकिन स्थानीय पोलिस मामले में ज्यादा इंटरेस्ट नही ले रही।हालांकि स्थानीय पुलिस की ये जिम्मेदारी बनती है कि इस मामले से जुड़े हर शख्श को कानून के दायरे में लेकर आये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *