15 लाख लेकर महिला ने नहीं करवाई प्लॉट की रजिस्ट्री, तो कर दी महिला की हत्या

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana,

Faridabad, 12 March,2019

फरीदाबाद के पल्ला थाना क्षेत्र की रहने वाली एक महिला की 15 लाख रुपए के विवाद के चलते गला दबाकर हत्या कर दी गई। महिला पिछले एक सप्ताह से लापता थी। पुलिस ने इस मामले में मां बेटे समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

बता दें महिला अपने पति के साथ इस्माइलपुर में रहती थी और किसी फाइनेंसर के यहां नौकरी करती थी। पुलिस को दी शिकायत में इस्माइलपुर निवासी रवि कुमार ने बताया कि उसकी पत्नी अनामिका किसी फाइनेंसर के साथ फाइनेंस का काम करती है। 6 मार्च की सुबह वह अंबिका भगत और मोनू उर्फ मनीष तिवारी के साथ किसी काम से गई थी। लेकिन घर नहीं लौटी।

पुलिस ने अनामिका के लापता होने का मामला दर्ज कर जांच मिसिंग पर्सन सेल के पास भेज दी। जांच के दौरान मिसिंग पर्सन सेल के प्रभारी नरेंद्र शर्मा को मामला कुछ संदिग्ध होने की आशंका हुई। इस पर पुलिस ने क्राइम ब्रांच की मदद मांगी।

जांच के दौरान पुलिस टीम को पता चला कि अंबिका भगत और मोनू तिवारी की मां मधु तिवारी मृतका अनामिका के पास प्लॉट खरीदने के लिए चार साल से रुपए जमा करा रहे थे। इस चार साल के दौरान करीब 15 लाख रुपये जमा करवाए थे। दोनों आरोपी किश्तें समाप्त होने के बाद अनामिका से प्लॉट दिलवाने और रजिस्ट्री करवाने की मांग करने लगे। लेकिन अनामिका कई दिन तक उन्हें बहाने बनाकर टालती रही।

इससे परेशान अंबिका भगत और मधु तिवारी ने अनामिका की हत्या करने की योजना बनाई और अंबिका भगत ने एलआईसी कराने के बहाने अनामिका को अपने घर मोलड़बंद, दिल्ली बुलाया। वहां अंबिका भगत, मधु तिवारी और उसके बेटे मोनू तिवारी ने साजिश के तहत अनामिका की गला दबाकर हत्या कर दी। शव को छिपाने के लिए उन्होंने शव को घर में बने सेफ्टी टैंक में फेंक दिया।

पुलिस के मुताबिक हत्यारोपियों ने शव को मोलड़बंद, दिल्ली स्थित घर के सेफ्टी टैंक में फेंक दिया था। पुलिस ने शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *