बैंक से धोखाधड़ी कर किसान क्रेडिट कार्ड बनवाकर हड़पे छह लाख रुपये

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Rewari, 24 March, 2019

रेवाड़ी में एक किसान ने पटवारी के साथ मिलकर बैंक को 6 लाख रुपये का चूना लगा दिया। पुलिस ने बैंक मैनेजर की शिकायत पर किसान व उसकी पत्नी सहित पटवारी व नायब तहसीलदार के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

बता दें कि कारपोरेशन बैंक की ओर से पुलिस में दी गई शिकायत में आरोप लगाया है कि 24 जून 2015 को बुडौली निवासी धर्मबीर ने किसान क्रेडिट कार्ड पर धोखाधड़ी से छह लाख रुपये का लोन लिया था।

3 साल से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी जब किसान ने पैसे जमा नहीं कराए तो बैंक ने धर्मबीर को नोटिस भेजा, नोटिस के बाद भी किसान ने लोन की राशि जमा नहीं करवाई।

बैंक ने जब किसान की जमीन के कागजातों की जांच कराई गई तो पता चला की जमीन धर्मबीर के नाम पर नहीं है। जमीन उसकी पत्नी राजेश देवी के नाम पर थी।

जिसके बाद बैंक मैनेजर ने  22 मार्च को खोल थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया।

किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन लेने से पहले जमीन की पूरी तस्दीक पटवारी को करनी होती है। जमीन कितनी है, किसके नाम है और उसकी भौगोलिक स्थिति क्या है। पटवारी की नो ड्यूज के बाद ही बैंक के पास फर्द पहुंचती है।

पुलिस का कहना है कि बैंक के पास जो फर्द पहुंची वह बुड़ौली निवासी धर्मबीर के नाम ही थी। इसके आधार पर ही बैंक ने लोन दिया था।

किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन लेने के लिए जमीन को बैंक के पास गिरवी रखा जाता है, एक तरह से जमीन बैंक के नाम करा दी जाती है। मैनेजर का आरोप है कि नायब तहसीलदार उप- तहसीलदार की मिलीभक्त से ही यह धोखाधड़ी हुई है। फिलहाल पुलिस ने किसान और उसकी पत्नी पर मामला दर्ज कार्यवाही शुरू कर दी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *