हरियाणा में बनेगा किसान कल्याण प्राधिकरण, कृषि समिट में खट्टर ने किया ऐलान

खेत-खलिहान बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

Yuva haryana
Rohtak, 25-03-2018

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने प्रदेश में किसान कल्याण प्राधिकरण बनाने की घोषणा की है। इस प्राधिकरण के माध्यम से किसानों के घाटे की भरपाई की जाएगी। इसी के साथ सीएम ने पानी को राष्ट्रीय संपदा घोषित किया है और कहा है कि हर राज्य को जरूरत के हिसाब से पानी मिलना चाहिए।

बता दें कि सीएम शनिवार को रोहतक में तृतीय कृषि मेले के शुभारंभ अवसर पर किसानों को संबोधित कर रहे थे। सीएम ने केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री पुरूषोतम रूपाला के साथ मेले का शुभारंभ किया। समारोह के दौरान अपने संबोधन में सीएम मनोहर लाल खट्टर ने किसान की आमदनी बढ़ाए जाने पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि हरियाणा कृषि प्रधान प्रदेश है और अगर कृषि का विकास होगा तो देश और प्रदेश का विकास होगा। उन्होंने कहा कि खेती ऐसा काम है जिसमें किसान के हाथ में न तो लागत है और न ही आमदनी।

किसान को हर समय फसल की चिंता रहती है क्योंकि जब तक उत्पाद बिक नहीं जाता तब तक वह खेत में ही पड़ा रहता है और इस दौरान तमाम प्रकार की प्राकृतिक आपदा का सामना करना पड़ता है। इसलिए जब तक किसान जोखिम फ्री नहीं होगा तब तक वह सुरक्षित नहीं होगा। सीएम ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और भावांतर भरपाई योजना का जिक्र खास तौर पर किया। उन्होंने किसानों के सूक्ष्म सिंचाई के साधन अपनाने की अपील की।

तृतीय कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन के पहले दिन चार किसानों को ईनाम में ट्रैक्टर, मिनी ट्रैक्टर, बुलेट मोटर साइकिल और स्कूटी दी गई। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री पुरुषोतम रुपाला तथा हरियाणा के कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ की उपस्थिति में सम्मेलन में आए किसानों का लक्की ड्रा निकाला गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *