27.2 C
Haryana
Sunday, September 27, 2020

हरियाणा में पराली न जलाने को लेकर किसानों को किया जाएगा जागरूक, 20 जून से शुरू होगा अभियान

Must read

मोदी सरकार को झटका, पुराने साथी अकाली दल ने कृषि कानूनों के विरोध में गठबंधन तोड़ा

Yuva Haryana News, Delhi, 26 September देश में नए कृषि कानूनों का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इन कानूनों को लेकर भारतीय...

प्रदेश में आज कोरोना के 1689 नए केस, तेजी से बढ़ी रिकवरी रेट, देखें Medical Bulletin 

Yuva Haryana News Chandigarh, 26 September, 2020 हरियाणा में अब कोरोना के रिकवरी रेट में सुधार हो रहा है। हरियाणा के दस हजार से ज्यादा लोगों...

हरियाणा पुलिस का बड़ा कारनामा, गाड़ी में हैलमेट नहीं पहना तो काट दिया चालान 

Yuva Haryana News Panipat, 26 September, 2020 हरियाणा पुलिस पहले भी अपने कारनामों को लेकर अक्सर विवादों में रहती है। अब पानीपत से पुलिस का एक और...

राजनीतिक नियुक्तियों पर मुख्यमंत्री ने की भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से बातचीत, मंत्रिमंडल विस्तार अभी नहीं

Yuva Haryana News, Delhi, 26 September मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार शाम दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से विशेष मुलाकात की...

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Chandigarh, 11 June, 2018

20 जून से लेकर 15 जुलाई तक हरियाणा में किसानों को लेकर एक अभियान चलाया जाएगा, जिसका मकसद पराली न जलाना है। पराली न जलाने को लेकर किसानों में जागरूकता बढ़ाई जाएगी।

कृषि विभाग के प्रधान सचिव अभिलाक्ष लिखि ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए प्रदेश के सभी जिलों के उप कृषि विभाग के निदेशकों और बागवानी विभाग के अधिकारियों की बैठक ली।

अभियान के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि इसके दौरान किसानों को जागरूक किया जाएगा, ताकि उन्हें भी पता चले कि पराली जलाने पर हमारे पर्यावरण में क्या- क्या दुष्प्रभाव पड़ता है।

अभिलाक्ष लिखि ने अधिकारियों से किसानों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का रिपोर्ट कार्ड भी लिया और कहा कि जिन के लक्ष्य पूरे नहीं हो पाएं हैं, वे जल्द ही इसे पूरा करें।

20 जून से 15 जुलाई तक किसान कल्याण अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें सभी जिलों में कृषि विभागों से जुड़ी योजनाओं की जानकारी देने के लिए सेमिनार भी आयोजित किए जाएंगे।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इन सेमिनार्स में अधिक किसानों की मौजूदगी होनी चाहिए। ताकि ज्यादा से ज्यादा किसानों को हर चीज की जानकारी हो सके। उन्हें ये मालूम हो सके कि पराली जलाने से पर्यावरण में क्या दुष्प्रभाव पड़ रहा है।

लिखि ने कृषि अधिकारियों से किसानों के सॉयल हैल्थ कार्ड का काम जल्द पूरा करने और अधिकतक किसानों का प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के चलते बीमा कराने के भी निर्देश दिए हैं, ताकि नुकसान हुई फसलों की पूरे तरीके से भरपाई हो सके।

अभिलाक्ष लिखि ने अधिकारियों को कहा कि समय- समय पर किसानों को कृषि से जुड़े मार्डन टेकनीक के बारे में भी अवगत कराया जाए।

 

More articles

Latest article

मोदी सरकार को झटका, पुराने साथी अकाली दल ने कृषि कानूनों के विरोध में गठबंधन तोड़ा

Yuva Haryana News, Delhi, 26 September देश में नए कृषि कानूनों का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इन कानूनों को लेकर भारतीय...

प्रदेश में आज कोरोना के 1689 नए केस, तेजी से बढ़ी रिकवरी रेट, देखें Medical Bulletin 

Yuva Haryana News Chandigarh, 26 September, 2020 हरियाणा में अब कोरोना के रिकवरी रेट में सुधार हो रहा है। हरियाणा के दस हजार से ज्यादा लोगों...

हरियाणा पुलिस का बड़ा कारनामा, गाड़ी में हैलमेट नहीं पहना तो काट दिया चालान 

Yuva Haryana News Panipat, 26 September, 2020 हरियाणा पुलिस पहले भी अपने कारनामों को लेकर अक्सर विवादों में रहती है। अब पानीपत से पुलिस का एक और...

राजनीतिक नियुक्तियों पर मुख्यमंत्री ने की भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से बातचीत, मंत्रिमंडल विस्तार अभी नहीं

Yuva Haryana News, Delhi, 26 September मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार शाम दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से विशेष मुलाकात की...

Corona virus है या फ्लू सर्दियों,  ये 2 बड़े लक्षण बताएंगे फर्क

Yuva Haryana News Chandigarh , 26 September, 2020 सर्दी और बरसात में हमें अक्सर जुखाम हो जाता है। कई बार तो हम इस बीमारी से 4-5...