हिसार में किसानों के धरने को 27 दिन हुए, लेकिन सरकार का ध्यान अब तक इस और नहीं गया

Breaking बड़ी ख़बरें हरियाणा

Vinod Saini, Yuva Haryana

Hisar, (19 April 2018)

हिसार की नई आनाज मंडी में आज किसानो का धरना 27 वे दिन में प्रवेश कर गया है। लेकिन किसानों की मांगो पर सरकार कोई भी ध्यान नहीं दे रही है। किसानों का कहना है की हरियाणा सरकार सरसों की फसल की न्यूनतम समर्थन मुल्य पर केवल नाममात्र खरीद कर रही है। चने, जौ का भी न्यूनतम समर्थन मुल्य किसानों को नहीं मिल रहा है और गेंहू में प्रति किवंटल 2 किलोग्राम की कटौती के अतिरिक्त फर्म कांटों पर गेंहू तोल में भारी गड़बड़ की जा रही है। जिसके चलते किसान अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे है।

वहीं किसान सभा के जिला सचिव सूबेसिंह बूरा ने कहा कि  किसानों की किसी भी फसल को न्यूनतम समर्थन मुल्य पर नहीं खरीदा जा रहा है। सरकार ने सरसों की फसल को 4000 रु प्रति किवंटल में खरीदने का फैसला किया था परंतु प्रशासन फसल की खरीद नहीं कर रहा है। चने की फसल 3600 से 3700 रु प्रति किवंटल में व्यापारी खरीदकर किसानों को लूट रहे हैं। सरकार का कोई खरीद केन्द्र नहीं है। इसी तरह गेंहू के ऊपर नमी बताकर प्रति बोरी 1 किलोग्राम की कटौती व्यापारियों द्वारा की जा रही है जिससे प्रति बोरी 17 रु 70 पैसे की लूट हो रही है। जिला प्रशासन इस लूट में शामिल है।

सरकार ने वायदा किया था कि फसलों को लाभकारी भाव दिया जाएगा परंतु इस बार पिछले साल की तुलना में भाव में गिरावट करके फसलों को खरीदा जा रहा है।वहीं सरसों की फसल को न्यूनतम समर्थन मुल्य से 1000 रु प्रति किवंटल में खरीदा जा रहा है तो गेंहू में भी प्रति किवंटल में नमी के नाम पर 2 किलोग्राम तक काटा जा रहा है तो कांटों में तोल पर भी भारी गड़बड़ है। एक कांटे से दूसरे कांटे में 1 से 2 किवंटल तक का अंतर होता है।

वहीं किसान सभा ने पिछले साल भी धर्मकांटों में तोल को लेकर प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया था। किसान सभा अब भी मांग कर रही है कि धर्मकांटों की उच्च स्तरीय जांच की जाए। किसान सभा ने आज अनाजमंडी में प्रदर्शन करते हुए भारत के  प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी  का पूंतला फुक्का और चेतावनी देते हुए कहा की अगर सरकार जल्दी से मांगे नहीं मानती है तो फिर किसान सभा मीटिंग कर बड़े आंदोलन भी कर सकती है और हरियाणा के मुख्य मंत्री के करनाल आवास का घेराव भी कर  सकती है।

यह भी पढ़ें-

हरियाणा में विभिन्न जिलों के एड्स पीड़ित लोग कर रहे हैं ऐसा काम, जिसे जानकर आप भी करेंगे इनके जज्बे को सलाम

1 thought on “हिसार में किसानों के धरने को 27 दिन हुए, लेकिन सरकार का ध्यान अब तक इस और नहीं गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *