बारिश का किसानों की फसल पर पड़ा भारी असर, अब मुआवजे की है उम्मीद

Breaking खेत-खलिहान चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Vinod Saini, Yuva Haryana

Hansi, 28 Sep, 2018

हिसार के हांसी गांव कुम्भा सहित कुलाना, शेखपुरा, जमावड़ी, गंगन खेड़ी, भाटौल, जीतपुरा, खरकड़ा गावों में कई फुट पानी भर गया है। जिसके कारण किसानों की फसलों को काफी नुक्सान हो गया है।  किसानो की मांग है की सरकार किसानों को खराब हुई फसलों का उचित मुआवज दिया जाना चाहिए।

ग्रामीणों का कहना है कि सरकार व प्रशासन को पानी निकासी के उचित प्रबंध करने चाहिए थे । बरसात के कारण खेतों में चार से साढ़े फुट तक पानी चढ़ गया है। जिससे सारी फसल तबाह हो गई है। उन्होंने बताया कि मांगे को लेकर प्रशासन को ज्ञापन भी दिया गया है। इसी बीच कांग्रेसी नेता व टेक्स ट्रिब्यूनल के पूर्व सदस्य हरपाल बूरा ने मौके पर निरीक्षण किया और किसानों से मिले। उन्होंने भी सरकार से मांग कि है हरियणा सरकार से तुंरत प्रभाव से सीधे तौर पर मुआवजा मिलना चाहिए।

कांग्रेसी नेता को ग्रामीणों ने जल से भरे खेतों को दिखाया कि कपास, जीरी, बाजरा की फसले तबाह हो गई है।ग्रामीणों ने सरकार से मांग की है कि प्रति एकड़ 25 हजार रुपये प्रति यूनिट दिया जाए व 50 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से वर्षा का मुआवजा दिया जाना चाहिए।

हाल ही में राजस्व विभाग ने सभी उपायुक्तों को पहले से चल रही गिरदावरी की प्रकिया में ही मौजूद नुक्सान का आकलन करने के निर्देश दिए हैं। हम सरकार से मांग करते है गांव या ब्लाक को ईकाई न मान कर एकड़  ईकाई को माना जाए, ताकि किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *