बारिश के कहर से किसानों को नुकसान, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का नहीं उठा सकेंगे लाभ

Breaking अनहोनी खेत-खलिहान चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Vinod Saini, Yuva Haryana

Hisar, 25 Sep, 2018

पूरे उतर भारत में लगातार बारिश का कहर जारी है। बरसात से लोगों और किसानों का जीना मुश्किल हो गया है। पंजाब, हरियाणा, हिमाचल समेत में पिछले 3  दिन से मुसलाधार बारिश जारी है। इस बरसात से किसानों को काफी नुकसान हुआ है।

किसानों की छह महीने की मेहनत पानी पानी हो गई है। खेतों में खड़ी फसल जलमग्न हो गई है। नरमा, ग्वार और धान की फसलों को खासा नुकसान हुआ है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना भले ही किसानों के लिए लागू की गई हो, लेकिन ज्यादातर किसानों को इसका लाभ नहीं मिल सकेगा, क्योंकि किसानों ने बीमा करवाया ही नहीं है।

किसानों के मुताबिक उन्हें इस योजना के बारे में कोई जानकारी नहीं है और ना ही सरकार की तरफ से कोई नुमाइंदा उन्हें योजना की जानकारी देने आया। किसानों की मांग है कि सरकार उनकी खराब हुई फसलों की गिरदावरी करवाकर उन्हें उचित मुआवजा दिलवाए। किसानो की चिंता लगातार बढ़ती जा रही है क्योंकि अगले 48 घंटे में मौसम विभाग ने भी भारी बारिश की चेतावनी दी हुई है।

किसान रोहताश ने बताया की दो दिनों से बरसात से किसनों को काफी नुक्सान हुआ है और काफी नुक्सान होने के कारण किसान कर्ज में और डूब गया है। किसान पहले से ही कर्ज में डूबा हुआ है और अब बरसात की वजह से और नुक्सान हुआ है।  किसनो की मांग है की सरकार खराब हुई फसल का मुआवजा जल्दी से दे, ताकि किसान कर्ज मुक्त हो।

किसान जगदीश व मंगल का कहना है की उन्होंने नरमा और ग्वार  बोई हुई है और फसल में 50 प्रतिशत से भी जयदा नुक्सान हुआ है। वह सरकार से यही मांग कर रहे हैं कि किसानों के नुक्सान की भरपाई करें, ताकि किसान कुछ कर्ज मुक्त हो।

मंगल का कहना है की किसानों ने जमीन भी ठेके पर ली हुई है और ठेके पर ली हुई जमीन पर उगी हुई फसल का बीमा तो बड़े ज़मीदारो को मिलता है। जिस किसान ने ठेके पर ली हुई है, उसको कुछ नहीं मिल पाता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *