डेढ़ साल की मासूम की पिता ने ली जान, हत्यारे पिता ने रात में ही मासूम के शव को दफनाया

Breaking अनहोनी चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Pradeep Dhankhar, Yuva Haryana

Jhajjar, 3 July, 2019

झज्जर के एक गांव में एक कलयुगी पिता ने अपनी डेढ़ साल की मासूम बेटी की गला घोट कर हत्या कर दी। घटना गांव सुलौधा की है। आरोप है कि मासूम की हत्या किए जाने के बाद इसी कलयुगी पिता ने अपने परिवार के ही अन्य लोगों के साथ मिलकर रात में ही मासूम के शव को गांव के ही श्मशान घाट में दबा भी दिया। मामले का जब मासूम की मां लक्ष्मी को पता चला तो उसने मासूम की हत्या की सूचना झज्जर पुलिस को दी।

बुधवार को मासूम की मां की सूचना पर ही पुलिस डयूटी मजिस्ट्रेट को लेकर गांव सुलौधा स्थित श्मशान घाट पहुंची और वहां जमीन में दबे मासूम के शव को बाहर निकलवाया। मासूम की मौत के पीछे असली वजह क्या रही इस बात का खुलासा पुलिस ने पोस्टमार्टम की रिर्पोट आने के बाद करने की बात कहीं है।

फिलहाल जमीन से निकाले जाने के बाद मासूम के शव को पोस्टमार्टम के लिए झज्जर के नागरिक अस्पताल पहुंचाया गया है। बता दें कि झज्जर के गांव सुलौधा में नरवीर नाम युवक अपनी पत्नी लक्ष्मी देवी व डेढ़ साल की मासूम के साथ अपने परिवार से अलग रहता था। पुलिस की माने तो पति व पत्नि के बीच अनबन भी रहती थी।

आरोप है कि मंगलवार को जब लक्ष्मी अपने मकान से कुछ ही दूरी पर स्थित खाली प्लाट में किसी काम से गई हुई थी तो उसी दौरान पीछे से मौका पाकर नरवीर ने अपनी डेढ़ साल की मासूम बेटी का गला दबा दिया। बाद में जब लक्ष्मी घर पहुंची तो पति ने मासूम की मौत कूलर का तार उसके स्वयं गले में लपेट दिए जाने की वजह से होना बताया।

हांलाकि लक्ष्मी ने उस दौरान विरोध भी जताया,लेकिन लक्ष्मी के विरोध के बावजूद नरवीर ने अपने परिजनों के साथ मिलकर मासूम बेटी के शव को गांव के ही श्मशान घाट में जमीन में रात्रि के समय ही दबवा दिया। देर रात ही लक्ष्मी ने इस मामले की सूचना पुलिस को दी।

लक्ष्मी की सूचना पर बुधवार को जिला पुलिस प्रशासन हरकत में आया और शव को जमीन से बाहर निकलवाने व मामले की सच्चाई का पता लगाने केलिए स्थानीय तहसीलदार ईश्वर को डयूटी मजिस्ट्रेट लगाया गया। बुधवार की शाम करीब चार बजे झज्जर पुलिस के जांच अधिकारी रविन्द्र एफएसएल टीम,डाक्टर नरवाला व पुलिस बल को लेकर गांव सुलौधा पहुंचे।

यहां उन्होंने डयूटी मजिस्ट्रेट ईश्वर की मौजूदगी में मासूम के शव को जमीन से बाहर निकलवाया। शव को जमीन से बाहर निकलवाने के बाद पुलिस ने शिकायकर्ता लक्ष्मी को अपनी मासूम बेटी के शव की पहचान करने के लिए श्मशान घाटबुलवाया। शव की पहचान किए जाने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए झज्जर के नागरिक अस्पताल पहुंचाया।

शव देख लक्ष्मी बोली,मार दिया मेरे जिगर के टुकड़े को: शव की शिनाख्त के लिए जब लक्ष्मी को परिजन श्मशान घाट लेकर पहुंचे तो शव को देखते ही लक्ष्मी बुरी तरह से रोने लगी। यहां उसने चीख-चीख कर कहा कि मार दिया मेरे जिगर के टुकड़े को। काफी देर तक लक्ष्मी को रो-रोकर बुरा हाल रहा। बाद में पुलिस व वहां मौजूद अधिकारियों के समझाने पर परिजन लक्ष्मी को वहां से लेकर गए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *